यहां होगा उत्तर भारत दर्शन परिषद का 33 वां अधिवेशन

यहां होगा उत्तर भारत दर्शन परिषद का 33 वां अधिवेशन

Deepak Rai | Publish: Jan, 14 2018 02:22:12 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

मुख्य अतिथि के रूप में प्रो. जगतपाल, नॉर्थ ईस्ट यूनिवर्सिटी शिलोंग (मेघालय) मौजूद रहेंगे

छतरपुर। उत्तरभारत दर्शन परिषद का 33वां अधिवेशन एवं राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी का दो दिवसीय आयोजन शहर के शासकीय महाराजा महाविद्यालय के दर्शनशास्त्र विभाग में 27 व 28 जनवरी को किया जाएगा। इस अधिवेशन एवं राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी की अध्यक्षता महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. प्रियवृत्त शुक्ल करेंगे। जबकि मुख्य अतिथि के रूप में प्रो. जगतपाल, नॉर्थ ईस्ट यूनिवर्सिटी शिलोंग (मेघालय) मौजूद रहेंगे।
महाराजा कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एलएल कोरी के निर्देशन में आयोजित होने जा रहे अधिवेशन एवं शोध संगोष्ठी के आयोजन सचिव का दायित्व दर्शनशास्त्र विभागाध्यक्ष डॉ.जेपी शाक्य निभायेंगे। डॉ.जेपी शाक्य ने बताया कि अधिवेशन एवं राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी में तीन प्रमुख संगोष्ठी आयोजित होंगी। पहली संगोष्ठी धार्मिक बहुलतावाद विषय पर केंद्रित होगी। इस संगोष्ठी के अध्यक्षता प्रो.दीपनारायण यादव, दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय गोरखपुर करेंगे। जबकि डॉ. संजय शुक्ला, डॉ. देवाशीष गुहा व डॉ. ऋषिकांत, इलाहाबाद, डॉ. सुशील तिवारी गोरखपुर, डॉ. कंचन सक्सेना, डॉ. रजनी श्रीवास्तव, लखनऊ, डॉ. श्यामवृक्ष मौर्य कोयलसा आजमगढ़ व डॉ. गोपाल साहू इलाहाबाद, प्रमुख वक्ता होगे। द्वितीय संगोष्ठी भारतीय भाषा दर्शन विषय पर केन्द्रित होगी। जिसकी अध्यक्षता प्रो. मुरली मनोहर पाठक करेंगे। जिसमें प्रो.जटाशंकर, डॉ. सूर्यकांत महाराज एवं डॉ. के भीमा कुमार इलाहाबाद, डॉ. अमित मिश्र, डॉ. सूर्यनारायण, गोरखपुर, डॉ. प्रशांत शुक्ल लखनऊ व डॉ. संजय कुमार तिवारी मडिय़ाहू प्रमुख वक्ता होंगे। तृतीय संगोष्ठी शिक्षा और समाज विषय पर केंद्रित होगी। जिसकी अध्यक्षता प्रो.जटाशंकर, इलाहाबाद, करेंगे। जिसमें डॉ. एपी दुबे सागर, डॉ. पीके खरे भोपाल, डॉ.शोभा मिश्रा उज्जैन, डॉ. नेहा शाक्य जबलपुर, डॉ. संदीप चौरसिया लखनऊ, डॉ. पीसी चौरसिया नालंदा, डॉ. सुभाषचंद्र शाक्य, ग्वालियर, डॉ. रमेशचन्द्र राजपूत, इटावा प्रमुख वक्ता होंगे। इसके अतिरिक्त स्थानीय प्राध्यापक एवं शोधार्थी अपने शोध पत्र प्रस्तुत करेंगे। संगोष्ठी में दो विशिष्ट व्याख्यान मालाएं भी आयोजित होंगी। जिसमें डॉ. शिवभानु सिंह ईसीसी इलाहाबाद के द्वारा संगमलाल पांडे व्याख्यानमाला तथा प्रो. गायत्री सिन्हा, जबलपुर के द्वारा देवात्मा व्याख्यान दिए जाएंगे। उत्तरभारत दर्शन परिषद के अध्यक्ष प्रो.सभाजीत मिश्र, गोरखपुर, उपाध्यक्ष प्रो. जटाशंकर इलाहाबाद व प्रो. डीएन यादव गोरखपुर, महासचिव प्रो. हरिशंकर उपाध्याय इलाहाबाद, मंत्री डॉ. सुशील तिवारी गोरखपुर एवं डॉ. नितिश दुबे कानपुर, कोषाध्यक्ष प्रो.रामलाल सिंह इलाहाबाद तथा विशिष्ट सदस्य प्रो. बीएन द्विवेदी के मार्गदर्शन में यह आयोजन होगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned