चौथे दिन भी सभी सैंपल की रिपोर्ट आई निगेटिव, अब एक्टिव केस बचे 9

स्वस्थ होने पर 4 मरीज कोविड सेंटरों से हुए डिस्चार्ज

By: Dharmendra Singh

Published: 17 Jun 2021, 07:22 PM IST

छतरपुर। अनलॉक के बीच लगातार चौथे दिन सभी सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई है। गुरुवार को आरटीपीसीआर से 483 और एंटीजन किट से 352 सैंपल समेत कुल 835 सैंपल की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। जिले में कुल कोविड पॉजिटिवों की संख्या 9822 पर थमी हुई है, वहीं गुरुवार को 4 मरीजों समेत अबतक कुल 9660 मरीजो ने कोरोना को मात दी है। जिसके बाद जिले में एक्टिव केस की संख्या अब सिर्फ 9 बची हैं। एक्टिव केस वाले मरीजों का कोविड केयर सेंटर में इलाज किया जा रहा है।


3 साल की बच्ची ने कोरोना को दी मात
गुरुवार को बड़ामलहरा के कोविड केयर सेंटर से 3 साल की बच्ची को डिस्चार्ज किया गया है। अनन्या प्रजापति ग्राम पंचायत लिधौरा के ग्राम सलैया की निवासी है। कोविड संक्रमण होने से वह बड़ामलहरा के कोविड केयर सेंटर में भर्ती हुई थी।अनन्या की मां ने सभी स्वास्थ्य कर्मियों का धन्यवाद ज्ञापित किया है। वहीं, गुरुवार को शहर के महोबा रोड स्थित कोविड केयर सेंटर से श्रीपाल पटेल, रजनी पटैरिया, सुनीता अहिरवार को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया है।

स्वास्थ्यकर्मियों ने अनुबंध को आगे बढ़ाने उठाई मांग
जैसे-जैसे कोरोना की दूसरी लहर शांत हो रही है आर्थिक गतिविधियां और जनजीवन सामान्य होने लगा है। इसी बीच लगभग 90 दिनों तक दिन-रात सेवा कर कोरोना मरीजों की जान बचाने वाले संविदा स्वास्थ्यकर्मियों की नौकरी अब खतरे में पड़ गई है। 30 जून तक संविदा अवधि पर काम कर रहे इन स्वास्थ्यकर्मियों में अपनी संविदा को आगे बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य विभाग से गुजारिश की है। स्टाफ नर्स सुधा परमार के नेतृत्व में कोविड 19 स्वास्थ्य संगठन मप्र की जिला इकाई के सदस्यों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर एक ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। विशेषज्ञों ने तीसरी लहर की आशंका जाहिर की है इसलिए फिलहाल उन्हें नौकरी से न हटाया जाए बल्कि उनकी संविदा को निरंतर कर दिया जाए।

COVID-19
Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned