प्राचार्य ने छात्र से की मारपीट, मामला दर्ज

प्राचार्य ने छात्र से की मारपीट, मामला दर्ज

rafi ahmad Siddqui | Publish: Oct, 13 2018 02:42:47 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 02:42:48 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

प्राचार्य से तंग होकर छात्र ने थाना प्रभारी से न्याय की लगाई गुहार

बकस्वाहा। नगर के इकलौते शासकीय उत्कृष्ट माध्यमिक हायर सेकेंडरी स्कूल में प्राचार्य अरुण शंकर पांडे की तानाशाही से छात्रों की मन में खासा आक्रोश व्याप्त है। नगर के ही आदेश खरे पिता अरविंद खरे नियमित रूप से पढ़ाई करने के लिए शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पढऩे के लिए जाता था। लेकिन स्कूल में प्राचार्य व शिक्षक ना होने से स्कूल के कुछ छात्रों द्वारा आवाज बुलंद की गई। जिसके बाद प्राचार्य अरुण शंकर पांडे को यह बात रास नहीं आई और घर बैठकर चला रहे प्राचार्य जब शुक्रवार को अपनी कुर्सी पर बैठे तभी अपने तानासाही दिखाते हुए कुछ बच्चों को धूप में खड़े होने का आदेश दे दिया। जानकारी के अनुसार 11वीं का छात्र आदेश खरे शुक्रवार को सुबह 11 बजे स्कूल के अंदर पहुंचा तब प्रार्थना के बाद स्कूल के प्राचार्य अरुण शंकर पांडे द्वारा छात्र के साथ बेरहमी से मारपीट कर दी और छात्र को धूप में खड़ा होने का आदेश दिया। करीब 30 मिनट धूप में खड़ा होने के बाद छात्र वहीं पर चक्कर आ गए और बेहोश होकर जमीन में गिर गया। इस दौरान वहीं स्कूल के और छात्र आ गए और एकत्र होकर आदेश खरे को स्कूल से उठाकर अस्पताल पहुंचे जहां पर उसका इलाज कराया गया। छात्र के होश में आने के बाद छात्र थाना प्रभारी रामनाथ तिवारी के पास पहुंचकर अपनी व्यथा को सुनाते हुए रोने लगा। छात्र ने बतााया कि उसे स्कूल प्राचार्य अरुण शंकर पांडे द्वारा बेरहमी से पीटा गया। जिसके बाद थाना प्रभारी ने उसके बात सुनी और एमएलसी के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। वहीं डॉक्टर द्वारा गर्दन में सूजन बताई जा रही है और कान के अंदर चोट बताई जा रही है। वहीं आदेश खरे ने प्राचार्य के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई और थाना प्रभारी रामनाथ तिवारी से न्याय की गुहार लगाई है। छात्र का कहना है कि स्कूल के प्राचार्य अरुण शंकर पांडे नियमित रूप से स्कूल में उपस्थित नहीं होते हैं जिससे हमारी कक्षाएं सुचारू रूप से नहीं लग पाती हैं और ना ही स्कूल में ठीक तरीके से पढ़ाई हो पा रही है प्राचार्य माह में एक या दो बार ही स्कूल में आते हैं जिससे हमारी पढ़ाई चौपट हो गई है और छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। जिसको लेकर छात्रों ने अपनी आवाज अधिकारियों के सामने उठाने की कोशिश की थी। प्राचार्य द्वारा इसकी भड़ास छात्रों पर निकाल दी गई और छात्र को ड्रेस का बहाना लेकर आधा घंटा धूप में खड़ा करके बेरहमी से पिटाई कर दी। मारपीट से छात्र के गर्दन में सूजन व कान के अंदर चोट आई है। वहीं घटना के बारे में प्राचार्य अरुण शंकर पांडे से बात करने की कोसिस की गई। तो उन्होंने कुछ भी कहने से मना किया है।
इनका कहना है
छात्र द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराई गई है जिसको लेकर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाएगी व प्राचार्य अरुण शंकर पांडे को समझाइश दी जाएगी कि आगे से ऐसी गलती ना करें।
रामनाथ तिवारी थाना प्रभारी बकस्वाहा

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned