एमपी-यूपी की सीमा पर अब आर्मी के रिटायर जवान पकड़ेंगे अवैध खनन

चौबीस घंटे कई रूटों पर करेंगे पूर्व सैनिक निगरानी
लैपटॉप, कैमरा समेत अन्य सुविधाओं से भी लैस होंगे दल

By: Dharmendra Singh

Updated: 28 Feb 2021, 07:48 PM IST

छतरपुर। खनिज के अवैध उत्खनन और परिवहन को रोकने के लिए एमपी-यूपी की सीमा पर उत्तरप्रदेश सरकार ने आर्मी के रिटायर जवानों की मोबाइल यूनिट तैनात की जा रही है। सीमावर्ती बांदा जिले में पूर्व सैनिकों का पहला दल नरैनी से करतल तक नजर रखेगा। दूसरा दल गिरवां से सीमावर्ती छतरपुर बार्डर तक और तीसरा सचल दल मटौंध से गौरिहार जिला छतरपुर तक निगरानी करेगा। इसी तरह महोबा जिले से लगे इलाके में भी तीन यूनिट 24 घंटे निगरानी रखेंगी। यूपी में छतरपुर की सीमा से लगी खदानों से रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन रोकने के लिए उत्तरप्रदेश में बहुत ज्यादा शिकायतों के बाद शासन ने दल गठित कराए हैं। वहीं, एमपी में रेत ठेकेदार ने सीमावर्ती इलाके में अपने वैरियर लगा रखे हैं, ताकि अवैध रेत जिले से बाहर न जा सके।

हर दल में संसाधनों से लैस 9 लोग
प्रदेश के खनिज सचिव डॉ. रोशन जैकब के निर्देश पर जांच दलों का गठन किया गया है। इनके नोडल खनिज अधिकारी व पर्यवेक्षण अधिकारी संबंधित तहसीलों के एसडीएम बनाए गए हैं। जिला खनिज अधिकारी सुभाष सिंह ने बताया कि बांदा में तीन मोबाइल यूनिट गठित की गई हैं। प्रत्येक दल में 9 सदस्य होंगे। तीनों दलों में कुल 27 पूर्व सैनिक शामिल हैं। यह ओवरलोड वाहनों को सीज और चालान की कार्रवाई भी करेंगे। इन्हें उत्तर प्रदेश भूतपूर्व सैनिक कल्याण निगम झांसी से लिया गया है। दल 24 घंटे अपना काम करेगा। उन्हें कई आधुनिक संसाधन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इन्हें श के अलावा लैपटाप, इंटरनेट, कैमरा, प्रिंटर, पावर बैकअप, सॉफ्टवेयर की सुविधाओं से भी लैस किया गया है। इसके लिए जिले की खनिज न्याज निधि से फंड की व्यवस्था कराई गई है। इन सचल दलों ने अपना काम शुरू कर दिया है।

यूपी में 33 जनपदों में बने दल
खनिज निदेशालय ने चित्रकूटधाम संभाग के चारों जिलों समेत कुल 33 जिलों में ये दल गठित किए हैं। बांदा में तीन दल अलग-अलग रूटों पर निगरानी करेंगे। चित्रकूटधाम संभाग के चारों जनपदों में कुल 15 सचल दल गठित किए गए हैं। बांदा व महोबा में 3-3, चित्रकूट में 2, हमीरपुर में 7 और झांसी में 3 मोबाइल यूनिट गठित किए गए हैं।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned