कलेक्टर बोले: मैं सबको सजा दिलाऊंगा

कलेक्टर बोले: मैं सबको सजा दिलाऊंगा
The Collector said: I will punish everyone

Hamid Khan | Updated: 11 Jul 2019, 05:05:17 PM (IST) Chhatarpur, Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

कन्हैयालाल आत्मदाह मामले में एसपी को हटाने सड़कों पर उतरे लोग, पीडि़त परिवार से मिले कलेक्टर, बोले सभी दोषियों पर की जाएगी कार्रवाई़ सर्व समाज ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन


छतरपुर. एसपी ऑफिस के बाहर 8 जुलाई को हुए कन्हैयालाल आत्मदाह मामले सहित जिले की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर एसपी तिलक सिंह को हटाए जाने की मांग ने जोर पकड़ लिया है। बुधवार को सर्वसमाज के एक सैकड़ा से अधिक प्रतिनिधियों ने कन्हैयालाल के पीडि़त परिवार के साथ कलेक्टर मोहित बुंदस को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया गया कि पुलिस अधीक्षक तिलक सिंह एवं उनका अधीनस्थ अमला यदि समय पर कन्हैयालाल को न्याय दिलाता तो उसे अपनी जान नहीं गंवानी पड़ती। पीडि़तों ने इस मामले की अदालत की निगरानी में न्यायिक जांच कराने की मांग की।
इसके पहले बीती रात गल्लामंडी की कल्याण धर्मशाला में अग्रवाल समाज द्वारा एक सर्वसमाज की बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में सभी समाजों के लोगों ने शामिल होकर मृतक कन्हैयालाल को श्रद्धांजलि देते हुए उसकी मौत के लिए पुलिस प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया था। लोगों का कहना था कि आरोपी अमन दुबे लगातार कन्हैयालाल और उसके परिवार को प्रताडि़त कर रहा था। पीडि़त परिवार ने सिटी कोतवाली पुलिस एवं एसपी कार्यालय में जाकर इसकी शिकायत भी की थी फिर भी पुलिस जब कन्हैयालाल को न्याय नहीं दिला पाई तब उसने आत्मदाह कर अपनी जान गंवा दी थी। बैठक में तय बिन्दुओं के आधार पर बुधवार दोपहर 12 बजे सर्व समाज के लोगों ने कलेक्टर मोहित बुंदस को मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन देने आए सर्वसमाज के लोगों एवं मृतक कन्हैयालाल के भाई जीतू एवं उसकी ***** से कलेक्टर ने बातचीत कर घटना की बिन्दुवार जानकारी ली। पीडि़त परिवार ने कलेक्टर को कन्हैयालाल के मृत्यु पूर्व बयानों की वह सीडी भी सौंपी जिसमें उसने अमन द्वारा प्रताडि़त किए जाने की बात कही थी एवं पुलिस द्वारा लगातार न्याय नहीं दिला पाने की व्यथा सुनाई थी।
आंखों में आंसू लिए जब कन्हैयालाल का परिवार कलेक्टर के चेम्बर में मिला तो कलेक्टर भी उनकी बात सुनकर भावुक हो गए। पीडि़त परिवार ने बताया कि आरोपी अमन दुबे ने 5 जुलाई को कन्हैयालाल के छोटे भाई अमित अग्रवाल को घर से अगुवा कर महोबा रोड के एक खेत में ले जाकर दिनभर पीटा था। इस मामले में भी पुलिस ने आरोपियों के विरुद्ध सही धाराओं में मुकदमा कायम नहीं किया है। कलेक्टर पीडि़तों की बात सुनने के बाद उनके घर पहुंचे एवं मृतक कन्हैयालाल की मां लता व मारपीट के शिकार हुए कन्हैयालाल के छोटे भाई अमित अग्रवाल को ढांढस बंधाया। कलेक्टर ने पीडि़त परिवार को सांत्वना देते हुए कहा कि मैं वादा करता हूं कि इस मामले की जांच जघन्य मामलों की सूची में चिन्हित कर कराई जाएगी एवं कोई भी आरोपी नहीं बचेगा। जिन्होंने भी यह गुनाह किया है उन्हें सजा दिलाई जाएगी। उन्होंने मृतक के भाई अमित अग्रवाल के इलाज के लिए भी मौके से सीएमएचओ डॉ. व्हीएस बाजपेयी को फोन लगाकर निर्देशित किया।

जिले में जबसे पुलिस अधीक्षक तिलक सिंह की नियुक्ति की गई है तभी से लगतार छतरपुर पुलिस की कार्यप्रणाली गंभीर आरोपों से जूझ रही है। पिछले लगभग चार-पांच महीने में जिले में आपराधिक घटनाओं में इजाफा हुआ है जिसके कारण भी एसपी को हटाए जाने की मांग हो रही है। विधायकों ने भी मुख्यमंत्री से शिकायत की है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned