scriptThe festival of Makar Sankranti was celebrated | मनाया गया मकर संक्रांति का पर्व, पुण्य स्नान व दान के साथ रही पर्व की धूम | Patrika News

मनाया गया मकर संक्रांति का पर्व, पुण्य स्नान व दान के साथ रही पर्व की धूम

locationछतरपुरPublished: Jan 15, 2024 04:44:35 pm

Submitted by:

Dharmendra Singh


जटाशंकर, मतंगेश्वर, भीमकुंड में जलाभिषेक के लिए उमड़े श्रद्धालु
पहाड़ी बंधा, बमनोरा,जगतसागर समेत जिले में कई जगह लगे मेले

जटाशंकर में उमड़े श्रद्धालु
जटाशंकर में उमड़े श्रद्धालु
छतरपुर. सूर्य के राशि परिवर्तन के उत्सव मकर संक्रांति को पूरे जिले में धूमधाम से मनाया गया। सुबह शुरु हुए पुण्यकाल के साथ ही धार्मिक स्थलों पर स्नान दान के साथ ही घरों में पुण्य स्नान की शुरूआत हो गई। जिले के बांधों में भी पुण्य स्नान के लिए लोगों की भीड़ जुटी। इसके साथ ही जटाशंकर, खजुराहो, भीमकुंड, मउसहानियां, बमनोरा में मकर संक्रांति का मेला भी लगा, जिसमें आसपास के लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए। जिलेभर में कई स्थानों पर मकर संक्रांति के अवसर सामूहिक स्नान व मेला का आयोजन किया गया। इसके साथ ही शहर के कई लोग बसों और ट्रेनों के जरिए शाही स्नान के लिए रविवार रात ही प्रयागराज के लिए रवाना हो गए, जो सोमवार को शाही स्नान में शामिल हुए।
मतंगेश्वर महादेव का जलाभिषेक करने पहुंचे श्रद्धालुजटाशंकर और खजुराहो में उमड़ी भीड़
जिले के धार्मिक स्थल जटाशंकर, भीमकुंड, मउसहानियां और खजुराहो में मकर संक्रांति के अवसर पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। सूर्यादय के साथ ही लोग जटाशंकर मंदिर प्रांगण में बड़ी संख्या में आए और स्नान करने के बाद जल चढ़ाया। इसके बाद मेले में शामिल होकर उत्सव का लुफ्त उठाया। इसी तरह खजुराहो के मतंगेश्वर मंदिर में लोग सुबह से ही जल चढ़ाने के लिए उमड़ पड़े। पुण्य स्नान और दान के बाद लोगों ने मेले का आनंद उठाया। मउसहानियां के प्राचीन तालाब जगत सागर में भी मकरसंक्रांति के अवसर पर लोगों की भीड़ सुबह से ही पहुंची। पुण्यकाल में स्नान -दान के साथ लोगों ने मंदिर में देव दर्शन से दिन की शुरूआत की।
मतंगेश्वर महादेव का जलाभिषेक करने पहुंचे श्रद्धालु
जिले भर में लगे मेला
उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश के बॉर्डर पर स्थित पहाड़ी बंधा पर हर वर्ष की तरह इस बार भी तीन दिवसीय मेले का शुभारंभ किया गया। इस मेले में यूपी एवं एमपी के दर्जनों गांव से ग्रामीण महिला पुरुष और बच्चे पहुंचे। बमनोरा में मकर संक्रांति के अवसर पर सुबह से ही नदी के घाटों पर डुबकी लगाने का सिलसिला शुरु हो गया। ठंड के बाबजूद सुबह से नदी पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस अवसर पर 3 दिवसीय मेले की भी शुरुआत हुई। मेला धसान नदी के किनारे लगाता है, जहां से एक ओर छतरपुर की सीमा और दूसरी ओर से टीकमगढ़ की सीमा लगती है। इसलिए इस मेले में दोनों जिलों से लोग आते है। वहीं, महाराजपुर गढ़ीमलहरा के बीच कुम्हेड नदी पर विशाल मेला का उदघाटन किया गया।

ट्रेंडिंग वीडियो