हरपालपुर में ड्रेसर क्लीनिक खोलकर कोरोना मरीजों का कर रहा था इलाज, एफआइआर

आपदा में भी मनमानी: जिला अस्पताल से गायब मिले 12 डॉक्टर

कलेक्टर ने अस्पताल से गायब डॉक्टरों व पैरा मेडिकल स्टाफ को कराया गैरहाजिर

By: Dharmendra Singh

Published: 15 May 2021, 08:37 PM IST

छतरपुर। कोरोना महामारी की आपदा में स्वास्थ्य अमले की मनमानी सामने आई है। कलेक्टर के निरीक्षण में जहां छतरपुर जिला अस्पताल के 12 डॉक्टर और 17 पैरामेडिकल स्टाफ गायब मिला। इन्हें गैरहाजिर कर दो दिन के वेतन काटने के आदेश दिए गए हैं। वहीं, हरपालपुर में स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत डे्रसर ने खुद का क्लीनिक खोल लिया था और कोरोना मरीजों का इलाज कर रहा था। प्रशासन की छापेमार कार्रवाई के बाद अस्पताल को सील कर दिया गया है और डे्रसर पर एफआइआर दर्ज की गई है।
जानकारी के अनुसार केसरी अनुरागी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हरपालपुर में ड्रेसर के पद पर कार्यरत है। उसने राजपूत कॉलोनी में बंद पड़ी किराना की दुकान को अपना क्लीनिक बना लिया था। वहां वह सर्दी-खांसी और बुखार के मरीजों के साथ कोरोना के संदिग्ध मरीजों का भी इलाज करता था। क्लीनिक में भीड़ जुटने की जानकारी पाकर नायब तहसीलदार झाम सिंह शनिवार की दोपहर वहां पहुंचे तो डे्रसर को डॉक्टरी करते देख हैरान रह गए। उन्होंने वहां मिले मरीजों को उपचार के लिए अस्पताल भेज दिया और क्लीनिक को सील कर दिया। आरोपी डे्रसर केसरी अनुरागी के खिलाफ आपदा एक्ट सहित अन्य धाराओं में अपराध दर्ज किया गया है।

दो मरीजों को चढ़ी थी बोतल, चार इंतजार में थे
नायब तहसीलदार के साथ जब टीम डे्रसर की क्लीनिक पर छापा डालने के लिए पहुंची तो वह दो मरीजों को बोतल चढ़ा रहा था। उनमें कोरोना के लक्षण नजर आ रहे थे। वहीं, सर्दी-खांसी और बुखार से पीडि़त चार मरीज बाहर बैठे अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। नायब तहसीलदार ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के मेडिकल आफिसर डॉ जगदीश अहिरवार को बुलाकर दवाओं की जब्ती बनवाई। डे्रसर द्वारा लिखे गए पर्चे और मरीजों के कथन दर्ज कर पंचनामा बनाया गया है। कार्रवाई में टीआई याकूब खान, नगर परिषद उपयंत्री शिवराम साहू, सदर पटवारी आशीष पांडेय, सफाई निरीक्षक आशीष सोनकिया मौजूद रहे।

जिला अस्पताल से ये रहे गायब
निरीक्षण में डॉ. व्हीपी शेषा, गीता चौरसिया, आरके धमनियां, संगीता चौबे, गायत्री नामदेव, निधि खरे, राजकुमार अवस्थी, विशाल तोमर, अरुणेन्द्र शुक्ला, अभिषेक यादव, मनोज चौधरी और डॉ. अशोक गुप्ता अनुपस्थित पाए गए। वहीं, 17 नर्सिंग स्टॉफ में लवलेश चतुर्वेदी फार्मासिस्ट, स्टॉफ नर्स आरती दीक्षित, एएनएम चन्द्रकुंवर तिवारी, नेत्र सहायक आरके अवस्थी, बृजकिशोर विश्वकर्मा और बीपी स्वर्णकार, लैब असिस्टेंट नरेश रिछारिया, वार्ड बाय ईश्वर प्रसाद सेनी, आशीष करौसिया, राजश्री द्विवेदी, रामस्वरुप रैकवार, रामनरेश प्यासी, रविशंकर गुप्ता, जंगी रैकवार, सफाईकर्मी बब्लू तथा रेडक्रॉसकर्मी मनोज गोपाल वैद्य तथा कु. फहमीदा खातून अनुपस्थित पाए गए।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned