Banned: अयोध्या पर निर्णय और दो पर्वों के बीच इन बातों से करना होगा परहेज

Banned: शांति समिति की बैठक में निर्णय: प्रकाश, बिजली और पानी के होंगे इंतजाम

छिंदवाड़ा/ नौ नवम्बर को प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में सिख समुदाय द्वारा जुलूस निकाला जाएगा तो वहीं दस नवम्बर को ईद मिलादउन्नवी का पर्व मनाया जाएगा। इस संबंध में सोमवार को शांति समिति की बैठक में निर्णय लिया गया।
कलेक्टर डॉ. श्रीनिवास शर्मा ने साफ-सफाई, पेयजल, सडक़ मरम्मत, यातायात, विद्युत आदि की व्यवस्था और कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश भी सम्बंधित अधिकारियों तथा आवारा पशुओं व पार्किंग का समुचित प्रबंधन करने के निर्देश नगर निगम आयुक्त को दिए। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय के आदेशों के अनुरूप रात दस से सुबह छह बजे तक किसी भी प्रकार का वाद्य यंत्र लाउडस्पीकर भी नहीं बजाएं और शेष समय में संबंधित राजस्व अनुविभागीय अधिकारी से अनुमति लेकर ही शहनाई व लाउडस्पीकर वाद्य यंत्र का उपयोग करें। जुलूस में अस्त्र-शस्त्र व पटाखे का प्रदर्शन प्रतिबंधित रहेगा। पटाखे के स्थान पर फूलों का उपयोग किया जा सकता है।
पुलिस अधीक्षक मनोज राय ने कहा कि दोनों पर्वों के दौरान पारम्परिक रूप से आवश्यकतानुसार व्यवस्थाएं की जाएंगी। उन्होंने अयोध्या को लेकर न्यायालय द्वारा आने वाले निर्णय के दौरान शांति व सौहाद्र्र बनाए रखने की अपील करने के साथ ही सोशल मीडिया पर भडक़ाऊ व आपत्तिजनक मैसेज नहीं डालने का अनुरोध किया। यदि सोशल मीडिया पर ऐसे मैसेज डाले जाएंगे तो सम्बंधित के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने किराएदारों पर भी जारी प्रतिबंधात्मक आदेश का पालन करने के लिए कहा।
नगर निगम आयुक्त ने स्वच्छता पर विशेष ध्यान और भंडारे से उत्पन्न कचरे के निपटान के लिए डस्टबीन की व्यवस्था की बात कही। बैठक में सिख समाज द्वारा आपसी सहमति व स्व-विवेक से एक दिन पहले नो नवंबर को प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में जुलूस निकालने का निर्णय लिया गया। दस नवम्बर को ईद मिलादउन्नबी का जुलूस निकलेगा।

Show More
prabha shankar Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned