शपथ लेने से पहले सुनूंगी आदिवासियों की पीड़ा: उइके

शपथ लेने से पहले सुनूंगी आदिवासियों की पीड़ा: उइके
Chhattisgarh's newly appointed governor said

Prabha Shankar Giri | Updated: 21 Jul 2019, 11:46:14 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

छत्तीसगढ़ की नवनियुक्त राज्यपाल ने कहा- 25 तक आयोग की सुनवाई, 26 को दूंगी राष्ट्रपति को इस्तीफा

छिंदवाड़ा. छत्तीसगढ़ की नवनियुक्त राज्यपाल अनुसुइया उइके ने कहा कि राज्यपाल की शपथ लेने के पहले वे राष्ट्रीय जनजाति आयोग की उपाध्यक्ष बतौर अंतिम तीन दिन आंध्रप्रदेश, झारखंड समेत अन्य राज्यों के आदिवासियों की जमीन सम्बंधी पीड़ा सुनेंगी। उसके बाद 26 जुलाई को राष्ट्रपति को आयोग उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देंगी। फिर आगे 29 जुलाई को शपथ ग्रहण के साथ राज्यपाल के रूप में सेवाएं देंगी।

राष्ट्रपति द्वारा राज्यपाल नियुक्त किए जाने के बाद पहली बार अपने गृह नगर पहुंची अनुसुइया उइके ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि छिंदवाड़ा जिले की माटी में जन्म लेकर उन्होंने यहीं शिक्षा प्राप्त की और छात्र जीवन से सामाजिक-राजनीतिक जीवन शुरू किया।

तामिया में लेक्चरार के रूप में सेवाएं दीं। फिर विधायक, मंत्री, राज्यसभा सदस्य के साथ महिला आयोग में पदासीन हुई। वर्तमान में राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग उपाध्यक्ष के रूप में सेवा दे रहीं थीं। अब नियुक्ति राज्यपाल के रूप में हुई है। उन्होंने कहा कि इस पद की शपथ से पहले 23, 24 और 25 जुलाई तक उनका प्रयास आयोग उपाध्यक्ष बतौर कुछ राज्यों के आदिवासियों के जमीन विवाद को सुनना होगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned