डूब गया आपका पैसा, करोड़ों लेकर कम्पनी फरार

डूब गया आपका पैसा, करोड़ों लेकर कम्पनी फरार
Chitfund company absconded

Prabha Shankar Giri | Publish: Jun, 12 2019 07:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

कोतवाली थाना में दर्ज कराई रिपोर्ट: निवेशकों में विश्वास बनाया फिर हड़प लिए करोड़ों रुपए

छिंदवाड़ा. एक कम्पनी ने निवेशकों के बीच धीरे-धीरे अपना विश्वास बनाया और मौका मिलते ही पौने तीन करोड़ रुपए समेटकर फरार हो गई। जब सोसायटी ने अपना कारोबार समेट लिया तब मैनेजर और निवेशकों को इस धोखाधड़ी का अहसास हुआ। छिंदवाड़ा के 631 लोगों ने इस कम्पनी में दो करोड़ 72 लाख 28 हजार 422 रुपए निवेश किया था और वर्ष 2017 से निवेशकों को रकम नहीं लौटाई जा रही थी। सोमवार देर रात मामले में धोखाधड़ी सहित अन्य धारा में प्रकरण दर्ज किया गया।
कोतवाली थाना के एएसआइ भगवत प्रसाद साहू ने बताया कि अनंत निधि क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड की स्थापना 31 जनवरी 2013 में हुई। रजिस्टर्ड ऑफिस लखनऊ के फस्र्ट फ्लोर पुष्पा बजाज बिल्डिंग में है। वहीं स्थानीय कार्यालय छिंदवाड़ा के पाटनी कॉम्प्लैक्स में है। सोसायटी का मुख्य व्यवसाय सहकारिता के माध्यम से सोसायटी के सदस्यों से विभिन्न योजनाओं में राशि निवेशित कर उक्त राशि से परिसम्पत्तियां खरीदकर सदस्यों को ही लोन फाइनेंस कर वित्तीय गतिविधि संचालित करना है। जमीन खरीदकर उस पर प्रोजेक्ट डेवलप कर उसे बेचना और लोन से होने वाली आय से सदस्यों को उनके प्लान मेच्योर होने पर निर्धारित राशि प्रदान की जाती थी। बताया जा रहा है कि सोसायटी उत्तर प्रदेश, बिहार, उत्तराखण्ड, राजस्थान एवं मप्र में कारोबार कर रही थी।

यूं छिंदवाड़ा पहुंची ब्रांच
सोसायटी की एक ब्रांच छिंदवाड़ा के पाटनी कॉम्प्लैक्स में खोली गई। ब्रांच के रीजनल मैनेजर राजेश यादव इस सोसायटी के निदेशक पवन श्रीवास्तव व अन्य निदेशक सदस्यों से पूर्व से ही परिचित था। आम लोगों ने स्थानीय निवासी यादव पर भरोसा करके सोसायटी में रकम निवेश की। पूर्व में निवेशकों की रकम भी लौटाई गई, लेकिन 2017 के बाद रुपए लौटाना बंद कर
दिया गया।

देर रात दर्ज कराई रिपोर्ट
सोमवार देर रात अनंत निधि क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड की छिंदवाड़ा ब्रांच में रीजनल मैनेजर के पद पर पदस्थ एवं संस्कार कॉलोनी परतला थाना देहात निवासी राजेश (48) पिता खेमचंद यादव की रिपोर्ट पर सोसायटी के चेयरमैन नीतेश श्रीवास्तव एवं अन्य निदेशकों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धारा में प्रकरण दर्ज किया। राजेश यादव ने पुलिस को बताया कि वह कुछ समय पहले सोसायाटी के मुख्य कार्यालय लखनऊ गया और राशि मांगी थी, लेकिन चेयरमैन और निदेशकों ने नहीं दी। जब दोबारा गया तो वहां ताला लटका हुआ था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned