जागरुकता से थमेगा कोरोना संक्रमण

लॉकडाउन अब उचित नहीं है। जागरुकता के साथ नियमों का पालन आवश्यक है। सुरक्षित दूरी बनाए रखे और मास्क बांधकर घरों से बाहर निकले।

छिंदवाड़ा/सौंसर/ कोरोना के बढ़ते संक्रमण व इससे बचाव के उपायों पर नगर के भवानी माता मंदिर परिसर में व्यापारियों, सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारी व प्रमुख नागरिकों की बैठक हुई। व्यापारी श्याम वर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में कोरोना से बचने के लिए लॉकडाउन व अन्य उपायों पर विचार और सुझाव रखे गए। नगर पालिका अध्यक्ष लक्ष्मण चाके, पूर्व अध्यक्ष संजय राठी, व्यापारी संगठन अध्यक्ष दिलीप बागडे, किराना एसोसिएशन अध्यक्ष अजय अढाऊ, व्यापारी संगठन के पदाधिकारी मौजूद थे।
वक्ताओं ने कहा कि लॉकडाउन अब उचित नहीं है। जागरुकता के साथ नियमों का पालन आवश्यक है। सुरक्षित दूरी बनाए रखे और मास्क बांधकर घरों से बाहर निकले। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए ताजा व पोषक आहार ,काढ़ा आदि लें। व्यापारी संगठन अध्यक्ष बागड़े ने बताया कि कोरोना से जागरुकता की आवश्यकता है। जनता को निरंतर जागरूक करना होगा।
प्रशासन पर ढिलाई का आरोप : बैठक में उपस्थित लोगों ने कहा गया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बाद भी प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है। जो लोग लम्बी यात्रा या फिर दूसरे प्रदेशों से आ रहे हैं। उन्हें खुद को क्वॉरंटीन करना चाहिए। इनमें संक्रमित भी हो सकते हैं, लेकिन ऐसे कई लोग घरों से बाहर निकल कर घूम रहे हैं। पूर्व में प्रशासन कड़ी कार्रवाई करता था लेकि अब ढिलाई दी जा रही हैं।
वाडेगांव की महिला की मौत: वाडेगांव निवासी कांग्रेस के जनप्रतिनिधि की माता का नागपुर में कोरोना से निधन हो गया है। पिछले दिनों से नागपुर में उनका उपचार चल रहा था।

 


सुरक्षित दूरी के जतन कर रहे दुकानदार
बोरगांव. कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए दुकानदार अपने स्तर पर भी प्रयास कर रहे हैं। नगर के नंदा कॉलोनी चौराहे पर राशन दुकान संचालक नरेश मल्लिक ने दुकान के काउंटर के बाहर पारदर्शी प्लास्टिक का पर्दा लगा दिया है। कई दुकानदारों ने उचित दूरी पर रस्सी बांध रखी है। इससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन रहा है।
गुढ़ी अम्बाड़ा में बंद रहा बाजार
गुढ़ी अम्बाड़ा. कोरोना संक्रमण को देखते हुए गुढ़ी अम्बाड़ा में मंगलवार को स्वैच्छिक बंद सफल रहा। कोरोना की चेन को तोडऩे के उद्देश्य को लेकर क्षेत्र के जागरूक नागरिक व व्यापारियों ने प्रत्येक मंगलवार को एक दिन अपने प्रतिष्ठान बंद रखने का स्वैच्छिक निर्णय लिया था। व्यापारियों ने अन्य दुकानदारों को भी समझाइस देकर बंद में सहयोग करने की अपील की।

Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned