Legislative Assembly News: सम्भाग का मुद्दा उठा तो जवाब में सरकार ने किया इनकार

जुन्नारदेव और परासिया विधायक ने पूछा सवाल

By: prabha shankar

Published: 26 Feb 2021, 12:17 PM IST

छिंदवाड़ा। विधानसभा में गुरुवार को जुन्नारदेव, परासिया को मिलाकर कोयलांचल जिला और छिंदवाड़ा सम्भाग का मुद्दा उठाया गया। जुन्नारदेव विधायक सुनील उइके और परासिया के सोहन बाल्मीक ने प्रश्नों के जरिए सरकार से इसका जवाब मांगा। इस पर मंत्रियों ने इस मांग को पूरा करने से इनकार किया।
विधायक उइके ने सवाल किया कि वर्ष 2008 में छिंदवाड़ा प्रवास पर मुख्यमंत्री ने छिंदवाड़ा जिले को सम्भाग बनाने तथा जुन्नारदेव विधानसभा क्षेत्र के दमुआ नगर पालिका को तहसील बनाने की घोषणा की गई थी। क्या जुन्नारदेव, तामिया, परासिया, उमरेठ, तहसील को मिलाकर कोयलांचल का नया जिला बनाने पर शासन विचार करेगा? सम्भाग व तहसील बनाने की घोषणाएं विगत 13 वर्षों से लम्बित है।
इस पर राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने जवाब देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा छिंदवाड़ा सम्भाग बनाने की घोषणा की गई थी। दमुआ नगर पालिका को तहसील बनाने की घोषणा नहीं की गई थी। कोयलांचल जिला बनाने सम्बंधी कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है।
इसी तरह परासिया विधायक बाल्मीक ने भी छिंदवाड़ा जिले को सम्भाग बनाने का सवाल उठाया। इस पर राजस्व मंत्री ने बताया कि छिंदवाड़ा, सिवनी एवं बालाघाट जिलों को सम्मिलित करते हुए नया संभाग-छिंदवाड़ा गठित करने की प्रारम्भिक अधिसूचना का प्रकाशन 6 जून 2008 को किया गया जिसके अनुक्रम में प्राप्त आपत्तियों के निपटारे के लिए आयुक्त जबलपुर सम्भाग की एकल सदस्यीय समिति का गठन विभाग द्वारा प्रस्तावित की गई। इसकी समय सीमा बताना संभव नहीं है।
मजदूरों को कम दरों पर भुगतान
विधायक सुनील उइके ने श्रमिकों को प्रदेश में निर्धारित दैनिक दरों से कम भुगतान ठेकेदारों एवं विभाग के अधिकारियों द्वारा किए जाने और उसे खाते में जमा नहीं करने का सवाल किया। इस पर खनिज साधन मंत्री ने कहा कि श्रमिकों को निर्धारित दैनिक वेतन दरों से कम भुगतान अनुज्ञेय नहीं है। यदि कोई शिकायत प्राप्त होती है, तो उस पर जांच उपरांत सम्बंधित के विरुद्ध कार्यवाही की जाती है।
जल संसाधन योजनाओं के काम बंद- विधायक उइके ने जल संसाधन विभाग द्वारा स्वीकृत योजनाओं के काम बंद होने और जुन्नारदेव की योजनाओं के बारे में सवाल किए।
इस पर जल संसाधन मंत्री ने बताया कि जिले की दो
सिंचाई योजना डागावानी (नहर रहित) जलाशय तथा पांजरा (स्टॉप डैम) के परियोजना प्रतिवेदन प्रशासकीय स्वीकृति के लिए प्राप्त हुए।

खनिज प्रतिष्ठान मद से नहीं मिली स्वीकृति
परासिया विधायक सोहन बाल्मीक ने परासिया विधानसभा क्षेत्रान्तर्गत विभिन्न निर्माण कार्यों की स्वीकृति खनिज प्रतिष्ठान मद से न मिलने का सवाल किया। इस पर खनिज साधन मंत्री ने कहा कि जिला खनिज प्रतिष्ठान के न्यास मंडल की बैठक आयोजित न होने के कारण कोई कार्यवाही नहीं की गई है।

Show More
prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned