Mahadev Mela: मेला स्थगित, प्रत्येक यात्रियों की चेक पोस्ट पर होगी जांच, गाइडलाइन जारी

आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में निर्णय: सांस्कृतिक व सामाजिक आयोजन के लिए लेनी पड़ेगी अनुमति

By: prabha shankar

Published: 24 Feb 2021, 11:43 AM IST

छिंदवाड़ा। कोरोना संक्रमण को देखते हुए सतपुड़ा अंचल का सबसे बड़ा भूराभगत और चौरागढ़ महादेव मेला स्थगित कर दिया गया है। इसके साथ ही महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों पर भी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट जैसी शर्ते लगा दी गई है।
अब सांस्कृतिक और सामाजिक कार्यक्रम में भी सक्षम प्राधिकारी की अनुमति लेनी पड़ेगी। छिंदवाड़ा और होशंगाबाद की जिला आपदा प्रबंधन समिति की मंगलवार को हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया।
महाशिवरात्रि पर प्रत्येक वर्ष लगने वाले महादेव मेला में छिंदवाड़ा समेत मप्र के दूसरे जिलों तथा महाराष्ट्र के यात्री जुन्नारदेव विकासखण्ड के सांगाखेड़ा के पास भूराभगत तथा जुन्नारदेव पहली पायरी से पहाड़ी यात्रा शुरू करते हैं और होशंगाबाद जिले की सीमा में पचमढ़ी के पास विराजे चौरागढ़ महादेव के दर्शन करते हैं। यहीं से आगे पचमढ़ी की यात्रा का अलग धार्मिक महत्व है। इस वर्ष पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में कोविड-19 संक्रमण बढऩे से मेला में भी इसका असर होने की आशंका थी। इसे देखते हुए राज्य शासन द्वारा विशेष अलर्ट जारी किया गया था।

महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों की नेगेटिव रिपोर्ट होने पर ही देंगे प्रवेश
कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन की अध्यक्षता में मंगलवार को जिला पंचायत कार्यालय के सभाकक्ष में जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक हुई। बैठक में महादेव मेले का आयोजन स्थगित करने का निर्णय लिया गया। यह भी फैसला लिया गया कि मास्क लगाना अनिवार्य होगा, मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना लगाया जाएगा। विभिन्न सांस्कृतिक सामाजिक आयोजनों के पूर्व सक्षम अधिकारी की अनुमति लेना अनिवार्य होगा। महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों की महाराष्ट्र बॉर्डर पर बनाए गए चेक पोस्ट में जांच की जाएगी। इस दौरान तापमान की जांच करने के साथ ही आरटी-पीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट भी देखी जाएगी। आरटी-पीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट होने पर ही महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों को जिले में प्रवेश दिया जाएगा ।

होम आइसोलेशन के नियम होंगे सख्त
1. कोरोना संक्रमण की स्थिति का आकलन करने समिति की बैठक जल्द।
2. स्कूल एवं छात्रावास का गाइड लाइन अनुसार संचालन।
3. होम आइसोलेशन और इंस्टीट्यूशनल आईसोलेशन के नियम सख्त।
4. कंटेनमेंट एरिया में भी पूरी तरह सख्ती बरती जाएगी।
5. मास्क लगाने, सेनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन।
6. अति आवश्यक होने पर ही महाराष्ट्र यात्रा की सलाह।

Show More
prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned