मुख्यमंत्री पुत्र का यह प्रयास उन्हें बना सकता है नया हीरो

मुख्यमंत्री पुत्र का यह प्रयास उन्हें बना सकता है नया हीरो
MP Nakulnath in Chhindwara

Prabha Shankar Giri | Updated: 12 Jun 2019, 08:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

सांसद बनने के बाद पहली बार अपने क्षेत्र में होंगे सांसद नकुलनाथ, जनता को है इनसे उम्मीदें

छिंदवाड़ा. भीषण गर्मी में पेयजल के हाहाकार के बीच जल संसाधन बढ़ाने का छोटा सा प्रयास युवा सांसद नकुलनाथ को अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत में ही जनता का नया हीरो बना सकता है। उन्हें बस शहर से जुड़े दो महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को अपने पिता मुख्यमंत्री कमलनाथ से स्वीकृति दिलानी होगी। पहला कन्हरगांव डैम से सीधे भरतादेव फिल्टर प्लांट तक पुरानी जर्जर पाइपलाइन को बदलने की 23 करोड़ की परियोजना और दूसरा माचागोरा बांध से शहर तक अतिरिक्त पाइप लाइन के प्रस्ताव को मंजूरी।
लोकसभा चुनाव में सांसद चुने जाने के बाद 13 जून को पहला मौका होगा, जब नकुल छिंदवाड़ा की धरा पर नई जिम्मेदारी के साथ आएंगे। ये जिम्मेदारी पहले उनके पिता कमलनाथ सम्भालते आ रहे थे। लोकसभा चुनाव के समय हमेशा पिता ने अपने भाषण में जनता से हर समस्या को अब नकुल को बताने की बात कही थी।
ऐसे में उनकी नई राजनीतिक पारी की शुरुआत में जनापेक्षाएं होना स्वाभाविक हैं। उनके पहले आगमन को लेकर कांग्रेस नेता-कार्यकर्ता पोस्टर-बैनर लगाकर उत्साहित हंै तो आम जनता में यह प्रतिक्रिया है कि नकुल को पिता की तरह स्थापित होने के लिए अभी से ही अपनी राजनीतिक-प्रशासनिक क्षमता को दिखाना होगा।
ऐसे में भीषण गर्मी में पेयजल समस्या के स्थायी समाधान के लिए दो प्रोजेक्ट उन्हें जनता से सीधे जोड़ देंगे।


कन्हरगांव
23 करोड़ रुपए की दरकार
करीब 35 साल के इतिहास में शहर की पेयजल आपूर्ति का केंद्र रहा कन्हरगांव जलाशय पहली बार सूखा है। इसकी भरतादेव फिल्टर प्लांट से जुड़ी 12 किमी की पाइपलाइन जर्जर और बदहाल हो चुकी है। इसका दो साल पहले प्रोजेक्ट बनकर नगरीय प्रशासन विभाग में धूल खा रहा है। नगर निगम द्वारा 23 करोड़ रुपए का नया प्रोजेक्ट फिर से विभाग को भोपाल भेजा गया है। कन्हरगांव की आपूर्ति के विकल्प में माचागोरा बांध से तुरंत पानी मुख्यमंत्री कमलनाथ के प्रयास से सरकार बनते ही शहर को मिला। आगे शहर को कन्हरगांव से ही पानी पीना होगा। ऐसे में नकुल को तुरंत प्रयास करके पुरानी पाइपलाइन को बदलवाना होगा। 14 जून को जब वे जिला योजना समिति की बैठक में उपस्थित हों तो तुरंत उन्हें इस पर कुछ करना होगा।

माचागोरा
अतिरिक्त लाइन का बनवाएं डीपीआर
इस समय शहर में पानी की आपूर्ति माचागोरा बांध से जुड़ी 24 गांवों की जल आवर्धन की अमृतम् योजना से हो रही है। यह एक वैकल्पिक समाधान है, जिस पर भीषण समस्या के चलते शासन-प्रशासन ने 13 करोड़ रुपए खर्च कर धरमटेकरी फिल्टर प्लांट की लाइन को पुराने भरतादेव फिल्टर प्लांट तक जोड़ा। आगे जब धरमटेकरी प्लांट निर्माण पूरा होगा, तब ग्रामीण इलाकों में माचागोरा बांध का पानी पहुंचाने का दबाव बनेगा। इस स्थिति में नगर निगम को माचागोरा बांध के प्वाइंट जम्होड़ी पंडा से सीधे शहर की अतिरिक्त पाइपलाइन डालने की दिशा में सोचना होगा। युवा सांसद नकुल अपने प्रयास से इस योजना को आगे बढ़ा सकते हैं।

आधुनिक महानगर विकसित करने के लिए ये भी जरूरी
1. धरमटेकरी में सर्वसुविधायुक्त डिज्नी-वाटर पार्क बन जाए तो लोग परिवार और मेहमानों के साथ उसका पिकनिक मनाते हुए आनंद ले सकें। 2. छिंदवाड़ा में खुल रही यूनिवर्सिटी में एडवांस स्टडी की सुविधाएं हों। जिससे ये महानगर की श्रेणी में कदम बढ़ाते छिंदवाड़ा की पहचान बने। 3. छिंदवाड़ा को संभाग का दर्जा मिले। पिछली शिवराज सरकार ने इसकी घोषणा की। इस पर अमल अभी तक पेंडिंग है। 4. सरकारी इंजीनियर कॉलेज का लक्ष्य लेकर चलें। इससे छात्रों को कहीं भटकना न पड़ें। 5. शहर में नेशनल लेबल की लाइब्रेरी विकसित हो। 6. शहर और गांवों में सडक़,भवन बनाते समय वाटर रिचाॢजंग और वाटर हार्वेस्टिंग पर काम हो।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned