Municipal Corporation: जिस आधार पर बनाई गई वरिष्ठता सूची उसी में गड़बड़ी

विभागवार बनाई गई वरिष्ठता सूची का निगम में विरोध

By: prabha shankar

Published: 25 Sep 2021, 10:44 AM IST

छिंदवाड़ा। नगर निगम द्वारा विनियमित कर्मचारियेां को वरिष्ठता का लाभ देने के लिए सूची बनाई गई है। लेकिन जिस आधार पर सूची बनाई गई है उसी को स्पष्ट नहीं रखा गया है यानी जन्मतिथि और महीने को एक ही क्रम में रखने की बजाय, आगे पीछे कर दिया गया।
किसी कर्मचारी के लिए पहले तारीख बाद में महीना लिखा गया है तो किसी कर्मचारी के लिए पहले महीना बाद में तारीख लिख दी गई है। ऐसे में यदि किसी कर्मचारी की जन्मतिथि, 10-12-1989 है तो समझना मुश्किल होगा कि वहां पहले महीना लिखा है या तारीख। इस सूची का प्रकाशन किया जा चुका है इसमें कार्यालय अधीक्षक, सहायक आयुक्त, स्थापना लिपिक सहित निगम आयुक्त द्वारा अपनी मुहर लगाई जा चुकी है और अब इस सूची के प्रकाशन के 15 दिन के अंदर निगम कर्मचारियों को अपनी आपत्ति दर्ज करानी है। इसका समय पांच अक्टूबर तक निर्धारित है।
निगम के विनियमित कर्मचारियों के नियमित होने की खुशी आधी अधूरी रह गई जब उन्हें यह जानकारी हुई कि उन्हें उनकी वरिष्ठता का लाभ उनके ही विभाग में मिलेगा। इससे वे ठगा सा महसूस कर रहे हैं।
दरअसल, लम्बे समय से इंतजार कर रहे निगम के वर्ष 2018 में विनियमित हुए ऐसे कर्मचारियों को नियमित किया जाएगा, जो अन्य कर्मचारियों से अधिक सीनियर हैं। ऐसे कर्मचारियों का चतुर्थ श्रेणी में भृत्य या समकक्ष पद चौकीदार, सफाई कर्मचारी में नियमित कर दिया जाएगा। इसके बाद से उनका वेतनमान वर्तमान वेतनमान से करीब तीन-चार हजार रुपए बढ़ जाएगा, लेकिन विभागवार सूची बनाए जाने से कर्मचारियेां में निराशा इस बात को लेकर है कि यदि उनके विभाग में रिक्त पद नहीं हुए तो वे वरिष्ठता के क्रम में होने के बावजूद लाभ से वंचित रह जाएंगे। निगम कर्मचारियेां की मांग है कि सभी विभागों की एक साथ एक ही वरिष्ठता सूची बनाई जानी चाहिए।

385 विनियमित कर्मियों का नाम है सूची में
2018 मेेंं दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों से विनियमित किए गए 385 कर्मचारियों को रिक्त पदों के अनुसार नियमित किया जा सकता है। इनमें स्वास्थ्य विभाग के 238 कर्मचारियेां की सूची अलग बनाई गई है और अन्य विभागों के 147 कर्मचारियों की सूची अलग बनी है। इन विभागों में जलप्रदाय शाखा, सामान्य प्रशासन विभाग, शिक्षा विभाग, लोकनिर्माण विभाग, राजस्व विभाग, स्टोर, खाद्य, विविध पेंशन, कांजी हाउस, योजना शाखा, जन्म-मृत्यु शाखा, विद्युत विभाग, गोधुलि आश्रम आदि शामिल हैं।


इनका कहना है
वरिष्ठता सूची विनियमित कर्मचारियों की है। 2018 में शासन के निर्देश के अनुसार चतुर्थ श्रेणी के रिक्त पदों पर योग्यता एवं वरिष्ठता के आधार पर नियमितीकरण कर दिया जाएगा। सूची एक्जाई ही बनी है इसमें और भी जो त्रुटि हैं उनमें सुधार कर दिया जाएगा।
अनंत कुमार धुर्वे, सहायक आयुक्त निगम

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned