वेकोलि प्रबंधक के बीच हुई वार्ता विफल

वेकोलि प्रबंधक के बीच हुई वार्ता विफल

Prem Dehariya | Publish: Sep, 08 2018 04:47:54 PM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

उपक्षेत्र अम्बाड़ा के अंतर्गत आने वाली मोहन कालरी की भूमिगत मुआरी खदान में कार्यरत मजदूरों की समस्या को लेकर संयुक्त कोयला मजदूर संघ एटक के द्वारा अनिश्चितकालीन क्रमिक भूख हड़ताल जारी है।

गुढ़ी अम्बाड़ा. उपक्षेत्र अम्बाड़ा के अंतर्गत आने वाली मोहन कालरी की भूमिगत मुआरी खदान में कार्यरत मजदूरों की समस्या को लेकर संयुक्त कोयला मजदूर संघ एटक के द्वारा अनिश्चितकालीन क्रमिक भूख हड़ताल जारी है। भूख हड़ताल के दसवें दिन राम सिंह एवं सुब्बन बैठे। ज्ञात हो कि मजदूरों को मिलने वाली बिजली, पानी, स्वास्थ्य , , वं खदान के अंदर मिलने वाली मूलभूत सुविधा के लिए लड़ रहे श्रमिक संगठन एटक को 10 वें दिन उप क्षेत्रीय प्रबंधक विपिन कुमार द्वारा वार्ता के लिए बुलवाया गया। जिसमें श्रमिक संगठन के पदाधिकारी व वेकोलि प्रबंधन के अधिकारी उपस्थित हुए। मजदूरों की समस्या के समाधान को लेकर की जा रही वार्ता विफल साबित हुई क्योंकि सब एरिया प्रबंधक को 10 दिन से भूखे प्यासे हड़ताल पर बैठे मजदूरों की समस्या का समाधान करने से ज्यादा फेयरवेल पार्टी में जाना जरूरी था जो कि रेस्ट हाउस डुंंगरिया में थी । इसीलिए वह श्रमिक संगठन के पदाधिकारियों को बुलाकर कुछ देर चर्चा करने के बाद फेयरवेेेल पाटी में चले गए। जिसकी वजह से हड़ताल में बैठे वेकोलि कर्मचारियों की समस्या का समाधान नहीं हो सका। इसके अलावा हद तो तब हो गई जब मुआरी खान प्रबंधक वाय के सिंग मुआरी खदान के मुहाने पर 10 दिन से भूख हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों से वार्ता कर उनकी समस्या का समाधान करने की बजाय वह भी आगरा की यात्रा पर निकल गए । जिसकी वजह से सब एरिया प्रबंधक एवं मोहन कालरी प्रबँधक मजदूरों के हित को लेकर कितने जिम्मेदार हैं यह स्पष्ट नजर आ रहा है। वार्ता विफल होने पर मजदूरों की 17 सूत्री मांगों को लेकर श्रमिक संगठन एटक के द्वारा अनिश्चितकालीन क्रमिक भूख हड़ताल जारी हैै। इस अवसर पर संयुक्त कोयला मजदूर संघ एटक के पेंच कन्हान अध्यक्ष दयाशंकर सिंह, महामंत्री राम केरा यादव, उपाध्यक्ष भीम सिंह ठाकुर, जेसीसी मेम्वर अरविंद यादव , मुरारी गौतम , मोहन कालरी शाखा अध्यक्ष रमन साहू , अनिल खादीपुरे, किस्मत अली , सहित एटक यूनियन के पदाधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।
इधर बीएमएस महामंत्री कुंवर सिह ने बताया कि बीएमएस शाखा विष्णुपुरी-2 द्वारा संडे डिप्लायमेंट एवं उत्पादन को लेकर 13 अगस्त को एवं शाखा शिवपुरी ओपनकास्ट माईन कोल यार्ड में लगी आग को बुझाने तथा शिवपुरी कामगार कालोनी में कल्याण संबंधी समस्याओं को लेकर 22 अगस्त को आन्दोलन नोटिस दिया गया था। जिस पर प्रबंधन द्वारा शुक्रवार को बैठक बुलाई गई। बैठक में प्रबंधन की ओर से उपक्षेत्रीय प्रबंधक सिन्हा, कार्मिक प्रबंधक शशीधरन, पाटिल एवं बीएमएस पेंच-कन्हान के कार्यकारी अध्यक्ष संजय सिंह, विष्णुपुरी-2 के अध्यक्ष संजय बावरिया, सचिव शिवनारायण, शिवपुरी ओसीएम के अध्यक्ष साजिद खान, सचिव नंदकिशोर पवार, विष्णुपुरी-1 के अध्यक्ष मनोज राय की उपस्थिति में चर्चा की गई। बैठक में प्रबंधन द्वारा कहा गया कि शिवपुरी ओसीएम कोल स्टाक में लगी आग को बुझाया जाएगा। कोल डिस्पेच को बढ़ाकर उसका निराकरण किया जायेगा। सण्डे डिप्लायमेन्ट की सूची एक दिन पहले सूचना पटल पर लगाई जायेगी, विष्णुपुरी-2 में उत्पादन को लेकर जो नीति बनाई गई थी उसका पूर्णरूपेण पालन करवाया जायेगा, संघ द्वारा कहा गया कि उत्पादन को लेकर जो नीति बनाई गई थी उसका अभी तक कोई पालन नहीं किया गया। शिवपुरी कामगार कालोनी के कल्याण संबंधी कार्य मच्छरों के प्रकोप से बचने हेतु फ ागिंग, गाजरघास, नाली की सफ ाई, लाईटिंग की पर्याप्त व्यवस्था कराई जायेगी। प्रबंधन ने क्रियान्वयन हेतु 15 दिनों का समय मांगा जिस पर संघ ने सहमति व्यक्त करते हुए निर्धारित दिनो के भीतर कार्यवाही नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

Ad Block is Banned