मनौती मांगते हैं अधिकारी और दुआ के सहारे मिलती है बिजली

मनौती मांगते हैं अधिकारी और दुआ के सहारे मिलती है बिजली
No maintenance for six months

Prabha Shankar Giri | Publish: Apr, 26 2019 11:01:26 AM (IST) | Updated: Apr, 26 2019 11:01:28 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

छह महीने से नहीं हुआ मेंटेनेंस, लोकसभा चुनाव की वोटिंग तक आंधी-तूफान न आने की मनौती कर रहे बिजली अधिकारी-कर्मचारी

छिंदवाड़ा. पिछले छह महीने से जिले में बिजली लाइन व ट्रांसफार्मर का मेंटेनेंस नहीं हुआ है। ऐसे में लोकसभा-विधानसभा चुनाव की मतदान तिथि 29 अप्रैल तक आंधी-तूफान न आए, बिजली गुल न हो और किसी की नौकरी पर संकट न बनें। यह प्रार्थनाएं इस समय बिजली कम्पनी के अधिकारी-कर्मचारी रोज कर रहे हैं। वजह यह है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ का क्षेत्र होने से चीफ इंजीनियर से लेकर प्रमुख सचिव तक हर दिन बिजली आपूर्ति की रिपोर्टिंग मांग रहे हैं और कटौती व ब्रेकडाउन कहीं भी न होने की चेतावनी भी जारी की गई है।
पिछले दिनों रामनवमी के समय शहर समेत ग्रामीण अंचल में अघोषित बिजली कटौती से पूर्व सम्भाग के कार्यपालन यंत्री पी. नागेश्वर राव को एक माह के अवकाश पर भेज दिया गया था। अब उन पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के बंगले शिकारपुर की बिजली गुल करने का आरोप भी लग गया है। इसका कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है। इसके अलावा पांढुर्ना के डीई, रंगारी व सोनाखार के जेई पर भी नोटिस व निलम्बन की कार्रवाई हो चुकी है। इसके अलावा सम्भागीय अभियंता द्वारा हर दिन किसी न किसी विद्युत सब स्टेशन की आकस्मिक जांच की जा रही है। इससे बिजली कम्पनी के अधिकारी-कर्मचारियों में डर का माहौल बन गया है। वे अपने इष्टदेव से रोज प्रार्थना कर रहे हैं कि लोकसभा चुनाव की वोटिंग तक खासकर सोनाखार सब स्टेशन के आसपास की बिजली गुल न हो। सीएम के बंगले शिकारपुर के आसपास की बिजली आपूर्ति बनाए रखने के लिए भी दुआएं हो रहीं हैं।
कुछ बिजली कर्मचारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पिछले छह माह से जिले में बिजली लाइन व ट्रांसफार्मर का मेंटेनेंस नहीं हो पाया है। पिछले साल नवम्बर में विधानसभा चुनाव के चलते भोपाल से मेंटेनेंस नहीं करने दिया गया। इस माह अप्रैल में बारिश पूर्व मेंटेनेंस होना था। इस दौरान बिजली कम्पनी को समबंधित इलाकों की बिजली गुल करनी पड़ती है। फिर उसे उच्च स्तरीय आदेश से रोक दिया गया। इसके कारण बिजली लाइन में फाल्ट भी आ रहे हैं।
बस दुआओं के सहारे बिजली चल रही है।

निर्देश मिलते ही शुरू होगा मेंटेनेंस
सम्भागीय अभियंता वायके सिंघई ने भी स्वीकार किया कि बिजली लाइन का मेंटेनेंस नहीं हो पाया है। अभी जहां आवश्यकता है सुधारीकरण किया जा रहा है। जैसे ही उच्च स्तरीय निर्देश आएंगे, मेंटेनेंस कार्य शुरू किया जाएगा। फिलहाल हम 24 घंटे बिजली आपूर्ति पर नजर रखे हुए हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned