महिलाओं ने घेरा तहसील कार्यालय

महिलाओं ने घेरा तहसील कार्यालय
water crises

Sanjay Kumar Dandale | Updated: 27 May 2019, 06:00:00 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

शनिवार को जलसंकट से परेशान महिलाओं ने तहसील कार्यालय का घेराव किया और जलसंकट के निराकरण के लिए ज्ञापन सौंपा।

छिंदवाड़ा. इन दिनों जिले में जलसंकट बरकरार है। शनिवार को जलसंकट से परेशान महिलाओं ने तहसील कार्यालय का घेराव किया और जलसंकट के निराकरण के लिए ज्ञापन सौंपा।
तहसील मुख्यालय उमरेठ में कुल 20 वार्ड हैं जिसमें से कुछ वार्ड ऐसे हैं जहां पिछले 12 वर्षों से नलों में पेयजल नहीं पहुंच पा रहा है। इन वार्डों की जनता हैंडपंपों से काम चला रही है। इन हैंडपंपों का भीषण गर्मी में भूमिगत जलस्तर नीचे चले जाने से अब हैंडपंप भी बंद हो गए हैं, जिससे नगर में पेयजल की भीषण समस्या गहरा गई है। वहीं नगर के अधिकांश वार्डो में लगभग 40 वर्ष पूर्व बिछाई गई भूमिगत पाइपलाइन क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण लोगों के घरों में गंदा पेयजल पहुंच रहा है।
इस 5 से 10 फिट नीचे गहराई में बिछी भूमिगत पाइपलाइन के ऊपर सीमेंट-कांक्रीट सडक़ निर्माण हो जाने के कारण इसे सुधारा भी नहीं जा रहा है जिसके चलते नगरवासी गंदा पेयजल पीने के लिये मजबूर हैं। नगर के कुछ वार्ड ऐसे भी हैं जहां आज भी ग्रामपंचायत की नलजल योजना नहीं पहुंची है। महिलाएं घरों में पेयजल आपूर्ति करने आधा से एक किलोमीटर की दूरी तय कर किसानों के खेतों में सिंचाई हेतु लगे पंपों से पानी लाकर परिवार व मवेशी की प्यास बुझा रही हैं। इन सभी समस्याओं को लेकर नगर के कुछ वार्ड की महिलाओं ने ग्राम पंचायत सहित तहसील कार्यालय का घेराव कर सरपंच और तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर नगर की पेजल समस्याओं से अवगत कराया जिसपर तहसीलदार ने सरपंच, सचिव, पटवारी सहित ग्राम में निरीक्षण कर शीघ्र पेयजल व्यवस्था करने का आश्वासन दिया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned