बैंक खुलते ही पहुंचे लुटेरे, गार्ड और ग्राहकों को बंधक बनाया, पिस्टल से धमका कर 45 लाख लूट कर भागे

जिले के निम्बाहेड़ा कस्बे में सबसे व्यस्तम मार्ग उदयपुर रोड स्थित एक निजी बैंक में शनिवार सुबह नकाबपोश लुटेरों ने धावा बोल बैंक में घुसकर लुटेरों ने पिस्टल की नोंक पर गार्ड और ग्राहक को बंधक बनाया लिया।

By: santosh

Updated: 03 Apr 2021, 02:33 PM IST

निम्बाहेड़ा. (चित्तौडगढ़़). जिले के निम्बाहेड़ा कस्बे में सबसे व्यस्तम मार्ग उदयपुर रोड स्थित एक निजी बैंक में शनिवार सुबह नकाबपोश लुटेरों ने धावा बोल बैंक में घुसकर लुटेरों ने पिस्टल की नोंक पर गार्ड और ग्राहक को बंधक बनाया लिया। उसके बाद 40 से 45 लाख रुपए लूटकर फरार हो गए। इस दौरान संघर्ष करने पर एक बैंककर्मी की पिटाई कर दी। इससे वह घायल हो गया। घायल बैंककर्मी को चिकित्सालय ले जाया गया। घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। उदयपुर रेंज आईजी सत्यवीरसिंह व चित्तौडगढ़़ पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव भी घटनास्थल पर पहुंचे। लुटेरों की तलाश में जिलेभर में नाकाबंदी कराई गई, लेकिन लुटेरों का सुराग नहीं लग पाया।

जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह 11 बजकर 40 मिनट पर एक्सिस बैंककर्मी रोजाना की तरह कामकाज में लगे हुए थे। दो व्यक्ति बैंक में घुसे और लोन ऑफीसर रोबिन सिंह के पास पहुंच कर लोन के बारे में पूछताछ करने लगे। उसके बाद इशारा पाकर तीन और साथी बैंक में घुसे। वह कैशियर तक पहुंच गए। इनमें से एक ने पिस्टल निकाल ली। इससे बैंक में अफरा-तफरी मच गई। लुटेरों ने हथियार से धमका कर वहां मौजूद गार्ड और ग्राहकों को बंधक बना लिया। सभी ने मास्क लगा रखा था।

कैशियर पर भी ताना हथियार, अलार्म को लात मारकर तोड़ा
लुटेरों ने कैशियर सलमान पर पिस्टल तान दी। उससे नकदी निकालने के लिए कहा। इससे डरकर कैशियर काउंटर के नीचे बैठ गया। कैशियर ने आपातकालीन दो अलार्म भी दबाए। लुटेरों ने अलार्म को लात मारकर तोड दिया। कैशियर के रूम में घुसकर वहां रखी नकदी साथ लाए बैग में भर ली। कैशियर से स्ट्रॉग रूम की चॉबी मांगी। कैशियर ने कहा कि स्ट्रॉंग रूम की चॉबी मैनेजर के पास होती है। लेकिन वह बाहर गए है।

धमका कर बैठा दिया सबको, ताकी कोई हरकत ना हो
इस बीच एक लुटेरे के इशारे पर अन्य लुटेरों ने पिस्टल तानकर वहां मौजूद गार्ड समेत दस-बारह जनों को एक जगह बैठा दिया। उन पर पिस्टल ताने रखी। इस दौरान बैंक के अंदर आए गोल्ड लोन मैनेजर रोबिनसिंह हाड़ा को भी लुटेरों ने पकड़ लिया। उसके विरोध करने पर उस पर पिस्टल के बट से वार करके घायल कर दिया। लुटेरे महिला ग्राहक की लगभग एक तोला वजनी सोने की चैन व 10 हजार रुपए उससे छीन लिए।

दस मिनट रूके, बाइक पर भागे
लुटेरे दस मिनट तक बैंक में रहे। नकदी समेटने के लिए बाद दो मोटरसाइकिलों पर भाग गए। घटना से दहशत में आए गार्ड और ग्राहकों ने उनके जाने के बाद शोर मचाया। इस दौरान वहां बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए। घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस उपाधीक्षक जगराम मीणा, कोतवाली प्रभारी हरेन्द्रसिंह सौदा, सदर थानाप्रभारी फूलचंद टेलर जाप्ते के साथ वहां पहुंचे। बैंककर्मियों से घटना की जानकारी ली। पुलिस ने जिलेभर में नाकाबंदी करा दी। बैंक के सीसी टीवी फुटेज में घटना कैद हो गई। पुलिस फुटेज के आधार पर लुटेरों की तलाश कर रही है। वहीं काउंटर पर मौजूद केश की गणना की जा रही है। उसके बाद ही वास्तविक नकदी का पता लग पाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned