उप पंजीयक कार्यालय का लिपिक व संविदाकर्मी घूस लेते गिरफ्तार

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो चित्तौडग़ढ़ की एक टीम ने सोमवार सायं निम्बाहेड़ा के उप पंजीयक कार्यालय में कार्यरत एक लिपिक व संविदाकर्मी को प्रमाणित छाया प्रति देने के नाम पर एक हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

By: jitender saran

Updated: 15 Mar 2021, 10:07 PM IST

चित्तौडग़ढ़
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो चित्तौडग़ढ़ की एक टीम ने सोमवार सायं निम्बाहेड़ा के उप पंजीयक कार्यालय में कार्यरत एक लिपिक व संविदाकर्मी को प्रमाणित छाया प्रति देने के नाम पर एक हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।
ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. विक्रम सिंह ने बताया कि परिवादी भीलवाड़ा निवासी व हाल निम्बाहेड़ा में रह रहे बहादुर सिंह (३०) पुत्र रामसिंह पंवार ने ब्यूरो कार्यालय में शिकायत की कि उसने उसके पांच ग्राहकों की रजिस्ट्री की प्रमाणित छाया प्रतियां लेने के लिए राजकीय राशि ई-मित्र पर जमा करवा दी। इसके बावजूद प्रत्येक प्रतिलिपि के दो सौ रूपए के हिसाब से उप पंजीयक एवं मुद्रांक विभाग निम्बाहेड़ा में कार्यरत लिपिक उमाशंकर उसके सहायक संविदाकर्मी जाकिर के मार्फत एक हजार रूपए रिश्वत की मांग कर रहा है। ब्यूरो टीम ने सत्यापन करवाया तो शिकायत सही पाई गई। इस पर चित्तौडग़ढ़ से ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. विक्रम सिंह के नेतृत्व में हेड कांस्टेबल दलपत सिंह, श्यामलाल, सिपाही खालिद हुसैन, सुनील कुमार, आशा तथा वाहन चालक शेरसिंह निम्बाहेड़ा पहुंचे। वहां परिवादी ने लिपिक दौसा जिले के सिकन्दरा थानान्तर्गत गांगदवाड़ी निवासी उमाशंकर (२७) पुत्र हुकमचंद शर्मा व संविदाकर्मी निम्बाहेड़ा के लसड़ावन निवासी जाकिर हुसैन (२५) पुत्र शमशुद्दीन मंसूरी को एक हजार रूपए दिए। परिवादी का इशारा पाते ही टीम के सदस्यों ने लिपिक व संविदाकर्मी को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। ब्यूरो की टीम आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

jitender saran Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned