जोधपुर से आया और चाय के ठेले पर शुरू कर दिया यह अवैध काम

जोधपुर से आया और चाय के ठेले पर शुरू कर दिया यह अवैध काम

Jitender Saran | Updated: 12 Jun 2019, 10:42:59 PM (IST) Chittorgarh, Chittorgarh, Rajasthan, India

पुलिस की ओर से जुआरियों और सटोरियों पर नकेल कसने के बाद अब सटोरिए भी हाईटेक हो गए है। पुलिस ने चाय के एक ठेले पर ऑनलाइन सट्टे का खुलासा करते हुए जोधपुर के एक युवक को गिरफ्तार किया है। ऑनलाइन सट्टे की इस कंपनी का मुख्यालय जोधपुर में होना बताया गया है।

-पांच सौ से एक हजार रूपए में देता है ऑनलाइन सट्टे का सॉफ्टवेयर
-जोधपुर में है सट्टा कंपनी का मुख्यालय
चित्तौडग़ढ़
पुलिस की ओर से जुआरियों और सटोरियों पर नकेल कसने के बाद अब सटोरिए भी हाईटेक हो गए है। पुलिस ने चाय के एक ठेले पर ऑनलाइन सट्टे का खुलासा करते हुए जोधपुर के एक युवक को गिरफ्तार किया है। ऑनलाइन सट्टे की इस कंपनी का मुख्यालय जोधपुर में होना बताया गया है।
पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल ने बताया कि गत माह प्रताप नगर व रेलवे स्टेशन के पास स्थित ऑनलाइन केसिनो को सीज करने के बाद ऐसी सूचनाएं मिल रही थी कि कुछ सटोरियों ने ऑनलाइन सट्टा शुरू कर दिया है, जो पांच सौ से एक हजार रूपए लेकर ग्राहकों को ऑनलाइन सट्टे का सॉफ्टवेयर देकर सट्टा चलवा रहे है। कोतवाल शैलेन्द्रसिंह को बुधवार को सूचना मिली कि जोधपुर के मण्डोर थानान्तर्गत लाला का बेरा निवासी भवानीसिंह (२७) पुत्र हरिचंद माली पंचायत समिति के बाहर चाय के ठेले पर बैठकर ऑनलाइन गेम के जरिए जुआं चला रहा है। यह युवक मोबाइल के जरिए फन टारगेट ऐप डाउनलोड कर रहा है, जिसमें मिलने वाले पॉइंट के आधार पर रूपयों का लेनदेन करता है। सूचना के आधार पर कोतवाल सहित सिपाही बालमुकंद, पुष्पेन्द्र और राजेन्द्र मौके पर पहुंचे। पुलिस ने बोगस ग्राहक बनाकर भवानीसिंह के पास भेजा, जिसने पांच सौ रूपए का रिचार्ज करवाकर पॉइंट हासिल करते हुए मोबाइल पर गेम चालू किया। ऑनलाइन जुआं सत्यापित होने पर भवानीसिंह को गिरफ्तार कर तलाशी ली तो उसके पास ऑनलाइन गेम के विभिन्न पॉइंट का हिसाब व १.१६ लाख रूपए नकद मिले।
जोधपुर में हैं मुख्य सरगना
पूछताछ में आरोपी भवानी सिंह ने पुलिस को बताया कि इस जुआं कंपनी का मुख्यालय जोधपुर में है, जिसके मुख्य संचालक मुख्य संचालक कमलेश सैनी व वीरेंद्र सैनी है।
ऐसे होता है ऑनलाइन जुआं
आरोपी ने पुलिस को बताया कि गेम खेलने वाला अपने एकाउंट में रिचार्ज करवा कर पॉइंट हासिल करता है। उन पॉइंट्स के हिसाब से फन टारगेट पर विभिन ऑनलाइन गेम जैसे पिनबॉल, वॉलेट, अंदर-बाहर, स्पिनर आदि पर अपने पॉइंट निर्धारित करता है। लगाए गए पॉइंट खुलने पर 1 पॉइंट पर 9,12 या 14 पॉइंट मिलते है, जिसके आधार पर जीती गई राशि दी जाती है।
भुगतान भी ऑनलाइन
जीती या हारी गई राशि का भुगतान ऑनलाइन ऐप पेटीएम या सीधे बैंक एकाउंट के जरिए होता है। नकद भुगतान बहुत ही कम होता है। जोधपुर व भीलवाड़ा पुलिस पूर्व में इनके खिलाफ कार्रवाई कर चुकी है।
अब बैंक खातों की जांच
पुलिस आरोपी के कब्जे से मिले मोबाइल व डायरी से इसका पूरा हिसाब किताब जुटाने की कोशिश में जुटी हुई है। आरोपितों के बैंक खाते व पेटीएम खाते का भी विवरण प्राप्त किया जा रहा है। आरोपित भवानी सिंह, कमलेश व वीरेंद्र सैनी निवासी जोधपुर के विरुद्ध कोतवाली में विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned