जिंदगी भर का दर्द दे रही परिषद की नाकामी, कर रहे कागजी खानापूर्ति

जिंदगी भर का दर्द दे रही परिषद की नाकामी, कर रहे कागजी खानापूर्ति

Rakesh gotam | Publish: Oct, 14 2018 10:30:00 AM (IST) Churu, Rajasthan, India

शहर में घूमते बेसहारा पशुओं पर अंकुश लगाने में नगर परिषद की नाकामी आमजन को कभी ना भूलने वाला जिंदगी भर का दर्द दे रही है। मगर समस्या के समाधान के लिए नगर परिषद प्रशासन कागजी कार्रवाई से आगे नहीं बढ़ पा रहा है। ऐसे में वीआईपी विजिट या मेले-उत्सवों के मौके पर परिषद अपने कर्मचारियों के भरोसे ही इन पशुओं को बाजारों में आने से रोकता है।

चूरू.

शहर में घूमते बेसहारा पशुओं पर अंकुश लगाने में नगर परिषद की नाकामी आमजन को कभी ना भूलने वाला जिंदगी भर का दर्द दे रही है। मगर समस्या के समाधान के लिए नगर परिषद प्रशासन कागजी कार्रवाई से आगे नहीं बढ़ पा रहा है। ऐसे में वीआईपी विजिट या मेले-उत्सवों के मौके पर परिषद अपने कर्मचारियों के भरोसे ही इन पशुओं को बाजारों में आने से रोकता है। मगर रोजाना घूमते ये बेसहारा पशु आए दिन किसी ना किसी को चोटग्रस्त कर रहे हैं। फिलहाल हालात ये है कि बेसहारा पशुओं के कारण लोगों की जान जोखिम में है। कई बार अचानक सड़क के बीच में आ जाने से दुपहिया वाहनों की टक्कर होना आम बात है। शहर की सब्जीमंडी के हालात ये है कि लोगों का सब्जी खरीदकर सुरक्षित घर लौटना मुश्किल बना हुआ है। हालांकि बेसहारा पशुओं की धरपकड़ के लिए परिषद प्रशासन कईबार निविदा निकाल चुका है। मगर किसी फर्मने ठेका नहीं लिया।

 

यहां रहता बेसहारा पशुओं का जमावड़ा
शहर में पुराना बस स्टैंड, नया बस स्टैंड, गढ़ चौराहा, हिरावत मंच, सुभाष चौक, सब्जी मंडी, धर्मस्तूप, कोर्ट रोड, स्टेशन के पास, नई सड़क, उत्तराधा बाजार, श्याम सिनोमा के पास व गुदड़ी बाजार सहित अनेक स्थानों पर आवारा पशुओं का जमावड़ा लगा रहता है।

 

खतरे में नौनिहाल
गढ़ स्थित हिरावत मंच के पास सुबह-सुबह बेसहारा पशु खड़े रहते हैं। जिनसे हर समय हादसे का खतरा रहता है। गौरतलब है कि इस रास्ते से सुबह-शाम सर्वहितकारिणी पाठशाला सहित तीन-चार अन्य निजी स्कूलों के बच्चे गुजरते हैं। इसके अलावा अन्य राहगीरों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

 

रोज मचाते हैं धमा चौकड़ी
शहर के लोगों का कहना हैकि सब्जी मंडी, बाजारों व गली-मोहल्लों में बेसहारा पशुओं की धमाचौकड़ी होना आम बात है। इनकी लड़ाईकी चपेट में आने से कई लोगों के वाहन क्षतिग्रस्त हो चुके हैं।

 

बेसहारा पशुओं की रोकथाम के लिए हमने कईबार निविदा जारी की है। मगर किसी फर्मने अब तक ठेका लिया नहीं है। इस वजह से समस्या आ रही है। वैसे ये समस्या सभी नगर पालिका क्षेत्रों की है। फिर भी इनकी रोकथाम के लिए परिषद प्रयासरत है।
विजय शर्मा, सभापति, नगर परिषद,चूरू

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned