अगले साल से दौड़ेंगी बैट्री चालित बसें

अगले साल से दौड़ेंगी बैट्री चालित बसें

Kumar Jeevendra | Updated: 14 Jul 2019, 12:52:15 PM (IST) Coimbatore, Coimbatore, Tamil Nadu, India

अगर सबकुछ ठीक रहा तो अगले साल से शहर के आसपास के इलाकों में बैट्री चालित बसों का परिचालन शुरू होगा।

कोयम्बत्तूर. अगर सबकुछ ठीक रहा तो अगले साल से Coimbatore शहर के आसपास के इलाकों में बैट्री चालित बसों का परिचालन शुरू होगा। राज्य परिवहन निगम ने डीजल चालित बसों को चरणबद्ध तरीके से परिचालन से बाहर करने की योजना के तहत बैट्री चालित बसों को बेड़े में शामिल करने का निर्णय लिया है। निगम का कहना है कि इससे वित्तीय संकट से भी उबरने में मदद मिलेगी। हालांकि, बैट्री चालित बसों को अभी प्रायोगिक तौर पर ही परिचालित किया जाएगा।
निगम के अधिकारियों के मुताबिक राज्य सरकार ने पहले चरण में 100 बैट्री चालित बसों को खरीदने का निर्णय लिया है। इनमें से २० बसों का परिचालन कोयम्बत्तूर में किया जाएगा। बैट्री चालित बसें वातानुकूलित होंगी। अधिकारियों के मुताबिक ये वैसे ही होंगी जैसी बसें यात्रियों के लिए हवाई अड्डे के अंदर उपलब्ध कराई जाती है। हालांकि, इनमें डीजल वाले साधारण बसों की तुलना में सीटों की संख्या कम हो सकती है। बैट्री चालित बसों में सामान्यत: 36 से 40 सीटें होती हैं। अधिकारियों के मुताबिक इन बसों की कीमत करीब एक करोड़ रुपए होगी। राज्य सरकार इन बसों की खरीद जर्मनी के एक सरकारी बैंक के सहयोग से करेगी।
अधिकारियों के मुताबिक इन बसों के निर्माण आर्डर जारी किया जा चुका है और अगले साल तक इनकी आपूर्ति होने की संभावना है।
अधिकारियों के मुताबिक इन बसों के परिचालन के लिए मार्ग चयन के लिए विस्तृत रिपोर्ट तैयार की जा रही है।
इन बसों को तिरुचि और अविनाशी रूट पर चलाने पर विचार किया जा रहा है। इन दोनों सड़कों की स्थिति अच्छी होने के साथ ही परिचालन लाभ के लिहाज से भी इसे निगम अनुकूल मान रहा है। इसके अलावा मेट्टूपालयम और दूसरे मार्गों पर भी विचार किया जा रहा है। अधिकारियों के मार्गों के चयन के लिए सड़कों की स्थिति सहित संभावित यात्री और लाभ की संभावना भी कारक होंगे।

अधिकारियों कहना है कि परिवहन विभाग केंद्र सरकार की योजना का लाभ उठाते हुए परिवहन निगम के बेड़े में ऐसे 1300 बसों को शामिल करने की तैयारी कर रही है। अधिकारियों के मुताबिक इन बसों क ेपरिचालन से प्रदूषण को कम करने में भी मदद मिलेगी।
अधिकारियों के मुताबिक बैट्री चालित बसों के परिचालन के लिए चेन्नई में एक नोडल कार्यालय काम करेगा। तकनीकी समस्याओं से निपटने के लिए कोयम्बत्तूर, Coimbatore मदुरै और चेन्नई से निगम कर्मचारियों के दल को बेंगलूरु में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned