अब घर मंगा सकेंगे जेल में बनी बिरयानी, इडली-डोसा

अब घर मंगा सकेंगे जेल में बनी बिरयानी, इडली-डोसा

Kumar Jeevendra | Publish: Aug, 08 2019 01:10:08 PM (IST) Coimbatore, Coimbatore, Tamil Nadu, India

अगर सब कुछ ठीक रहा है तो Coimbatore शहर के लोग जल्द ही जेल में बनी बिरयानी, इडली-डोसा, पोंगल घर पर भी मंगा सकेंगे। साथ ही कैदियों के बनाए कप केक, पुरी, खिचड़ी आदि खाद्य सामग्री का स्वाद भी घर बैठे ले सकेंगे।

कोयम्बत्तूर. अगर सबकुछ ठीक रहा है तो शहर के लोग जल्द ही जेल jail में बनी बिरयानी, इडली-डोसा, पोंगल घर पर भी मंगा सकेंगे। साथ ही कैदियों के बनाए कप केक, पुरी, खिचड़ी आदि खाद्य सामग्री का स्वाद भी घर बैठे ले सकेंगे।
अधिकारियों के मुताबिक जेल विभाग कैदियों के बनाए उत्पादों को ऑनलाइन बेचने के लिए र्ई-कामर्स कंपनियों से बातचीत कर रहा है। खाद्य पदार्थों की बिक्री के लिए ऑनलाइ एग्रीगेटरों से चर्चा की जा रही है।
कोयम्बत्तूर केंद्रीय जेल Coimbatore central jail के अधीक्षक कृष्णराज के मुताबिक आजकल ऑनलाइन on line खाना बेचा जा रहा है और इसकी मांग भी काफी है। इसे देखते हुए जेल विभाग कैदियों के बनाए खाद्य पदार्थों को ऑनलाइन बेचने की संभावनाएं तलाश रहा है। उन्होंने कहा कि इस योजना को जल्द ही लागू किया जाएगा।
अधिकारियों के मुताबिक इस योजना को लागू किए जाने पर शुरुआती दौर में दोपहर के भोजन में 300 ग्राम बिरयानी, रोटी, चिकन-करी, सलाद, एक कप केक, अचार और पानी दिया जाएगा। साथ ही खाना खाने के लिए केले के पत्ते भी दिए जाएंगे।
इसके बाद बाकी खाद्य पदार्थ भी ऑनलाइन बेचे जाएंगे। इसकी कीमत 120 - 130 रुपए रखने का प्रस्ताव है। अधिकारियों का कहना है कि इस योजना के लागू होने के बाद से जेल में बने सामानों की बिक्री गांधीपुरम में स्थित केंद्रीय जेल के पास कैदी बाजार के साथ ही देश के अन्य हिस्सों में भी हो सकेगी।
केंद्रीय जेल central jail की ओर से चलाए जा रहे कैदी बाजार में सुबह के समय अभी जेल में तैयार इडली-डोसा, पुरी, खिचड़ी, पोंगल बेचा जाता है जबिक दोपहर के भोजन में टमाटर व नींबू राइस के अलावा बिरयानी, दही मिलता है। रात के खाने में इडली और डोसा मिलता है। बाजार में जेल में बने बेकरी उत्पाद, कैरमेल, साबुन, फिनाइल, कपड़े, कंबल आदि बेचे जाते हैं।
( Tamil Nadu ) राज्य सरकार ने वर्ष 2015 में कैदी बाजार परियोजना शुरू की थी और इसके तहत कैदियों के बनाए खाद्य व अन्य उत्पाद सीधे ग्राहकों को बेचे जाते हैं। कुछ महीने पहले ही जेल विभाग ने शहर में पेट्रोल पंप भी शुरू किया था, जिसका संचालन कैदी ही करते हैं। गौरतलब है कि कुछ समय पहले ही केरल में भी जेल में बने खाने की ऑनलाइन बिक्री शुरू हुई है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned