IND VS ENG: तीसरे टेस्ट में ऋषभ पंत के साथ अंपायरों ने किया ऐसा बर्ताव, भड़के सुनील गावस्कर

गावस्कर इस बात से हैरान है कि तीसरे टेस्ट मैच के दौरान टीम इंडिया के ऋषभ पंत के क्रीज से बाहर खड़े होने के ‘स्टांस’ पर इंग्लैंड के अंपायरों ने आपत्ति क्यों जताई।

By: Mahendra Yadav

Published: 28 Aug 2021, 04:23 PM IST

IND vs ENG: भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मैच लीड्स में खेला जा रहा है। मैच के तीसरे दिन भारतीय बल्लेबाजों ने खेल खत्म होने तक दूसरी पारी में 2 विकेट गंवाकर 215 रन बना लिए थे। कप्तान विराट कोहली 45 रन और चेतेश्वर पुजारा 91 रन बनाकर क्रीज पर हैं। हालांकि पहली पारी के आधार पर भारत अभी भी इंग्लैंड से 139 रन पीछे है। वहीं तीसरे मैच में भारतीय क्रिकेट दिग्गज सुनील गावस्कर एक बात को लेकर अंपायर्स पर भड़क गए। दरअसल, गावस्कर इस बात से हैरान है कि तीसरे टेस्ट मैच के दौरान टीम इंडिया के ऋषभ पंत के क्रीज से बाहर खड़े होने के ‘स्टांस’ पर इंग्लैंड के अंपायरों ने आपत्ति क्यों जताई। गावस्कर का मानना है कि नियम बल्लेबाजों को ऐसा करने से नहीं रोकते हैं।

पंत को कहा ‘स्टांस’ बदलने के लिए
वहीं पंत ने बताया कि मैच के दौरान उन्हें अंपायरों ने अपना ‘स्टांस’ बदलने के लिए कहा क्योंकि स्विंग से निपटने के लिए क्रीज के बाहर खड़े होने से पिच के ‘डेंजर एरिया’ (स्टंप के सीध में पिच का क्षेत्र) में पांवों के निशान बन रहे थे। वहीं गावस्कर का इस मामले में कहना है कि पिच पर जूते से बनने वाले निशान किसी बल्लेबाज के ‘स्टांस’ का निर्धारण नहीं करते। गावस्कर का कहना है कि वह सोच रहे थे कि पंत को ‘स्टांस’ बदलने के लिए क्यों कहा गया।

यह भी पढ़ें— IND vs ENG: पंत की शानदार विकेट कीपिंग के चलते, इस खिलाड़ी का करियर खत्म होने के कगार पर

rishabh_pant.png

मांजरेकर ने भी बताया 'बेतुका'
गावस्कर का कहना है कि उन्होंने इस बारे में केवल पढ़ा है। उनका कहना है कि बल्लेबाज पिच पर कहीं भी खड़ा हो सकता है, यहां तक कि पिच के बीच में भी। साथ ही गावस्कर का कहना है कि कई बार जब बल्लेबाज स्पिनरों के खिलाफ आगे निकलकर खेलते हैं तब भी पैरों के निशान बन सकते हैं। वहीं भारत के पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने भी इसे ‘बेतुका’ बताया।

यह भी पढ़ें— IND vs ENG: ऋषभ पंत ने कहा-सॉफ्ट पिच पर पहले बैटिंग करने का फैसला टीम का था

पंत ने बताया क्यों कहा गया स्टांस बदलने को
पंत ने बताया कि जब वह क्रीज के बाहर खड़े थे तो उनका अगला पांव ‘डेंजर एरिया’ में आ रहा था इसलिए अंपायरों ने उनसे कहा कि वह यहां पर खड़े नहीं हो सकते हैं। पंत का कहना है कि एक क्रिकेटर होने के नाते वह इस बारे में अधिक नहीं सोचते क्योंकि जो भी ऐसा करता, अंपायर उससे भी वही बात करते। इसके बाद अगली गेंद पर पंत ने वैसा नहीं किया।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned