बॉलीवुड अभिनेत्री से 18 लाख के सोफे पर गिर गई वाइन, उद्योगपति ने भेज दिया लाखों का नोटिस

  • उद्योगपति संजय जिंदल ने नए घर की पार्टी में बुलाया था एक्ट्रेस को।
  • जानशीन फिल्म में पहली बार नजर आई थीं एक्ट्रेस पिंकी हरवानी।
  • सीसीटीवी के जरिये पता लगाया किसने लगाया 18 लाख के सोफे पर दाग।

मुंबई। मायानगरी से एक अनोखा केस सामने आया है। यहां एक उद्योगपति घर आए एक मेहमान द्वारा उसके सोफे में वाइन गिराने से इतना नाराज हो गया कि महिला मेहमान को लाखों का कानूनी नोटिस थमा दिया। जिंदल ड्रग्स की प्रमोटर फैमिली के संजय जिंदल ने उद्यमी और पूर्व एक्ट्रेस पिंकी हरवानी को अपने महंगे सोफे पर एक गिलास रेड वाइन गिराने और इस बारे में सूचित नहीं करने के लिए हर्जाना भी मांगा है।

जानकारी के मुताबिक जिंदल ने बीते 18 जनवरी को अल्टामाउंट रोड स्थित अपने नए पेंटहाउस में दावत दी थी। इस बारे में हरवानी ने बताया कि उन्हें जिंदल के दोस्त अशोक सराफ ने बुलाया था।

देश में बेहद तेजी से लोगों की जान ले रहा है कोरोना वायरस, इतने दिनों में 100 गुना बढ़ गई मौतें

जिंदल के मुताबिक हिरवानी अपने साथ एक ग्लास रेड वाइन लेकर उनके घर में ऊपर गईं थी। अपार्टमेंट में उन्होंने सराफ समेत कुछ अन्य दोस्तों के साथ ग्रुफ फोटो खिंचवाई। इसके तुरंत बाद गलती से हरवानी से उनके पीछे लगे सोफे पर वाइन की गिलास से कुछ शराब गिर गई।

जिंदल का दावा है कि हरवानी ने उसे इस घटना के बारे में ना तो जानकारी दी ना ही इसके लिए माफी। उन्हें सोफे में दाग किसने लगाया था, यह पता लगाने के लिए अपने सीसीटीवी फुटेज की मदद लेनी पड़ी। वहीं, हरवानी का कहना है कि उसने रसोई के कर्मचारियों से दाग साफ करने के लिए सोडा मांगा था।

फरवरी में कानूनी नोटिस भेजने वाले जिंदल का कहना है कि सोफे की कीमत लगभग 18 लाख रुपये है और इसकी मरम्मत में 2.13 लाख रुपये लगे। उन्होंने वकील विवेक कांतवाला द्वारा हरवानी को कानूनी नोटिस भेजा।

इस बारे में जिंदल ने कहा, “मुझे उम्मीद थी कि मेहमान, मेजबान के स्वभाव को ध्यान में रखते हुए उनके घर पर सम्मानजनक तरीके से व्यवहार करेंगे ना कि किसी मनोरंजन पार्क या सार्वजनिक उद्यान की तरह। यह मामला पैसे का नहीं, बल्कि शालीनता का है।"

कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद देश में आ सकता है यह बड़ा संकट, पंजाब ने दी चेतावनी

दिवंगत अभिनेता फ़िरोज़ खान ने पहली बार हरवानी को बॉलीवुड फिल्म 'जानशीन' में कास्ट किया था और फिर वह 'लाइफ में कभी कभी' फिल्म में भी आई थीं। फिलहाल सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन की सदस्य हरवानी कहती हैं कि उन्हें भी पता नहीं है कि किसने उनके हाथ से ग्लास छीना।

हरवानी ने कहा कि उसने तय वक्त के भीतर जिंदल के नोटिस का जवाब दे दिया और इस घटना के लिए माफी मांगी। उन्होंने कहा, “यह स्पष्ट रूप से एक गलती थी और जो कुछ हुआ उसके बारे में मैं क्षमाप्रार्थी हूं। लेकिन यह (कानूनी नोटिस) अपमान और उत्पीड़न का एक रूप है। इसे जबरन वसूली भी कहा जा सकता है। नोटिस में खुद इसे एक दुर्घटनावश छलकाव कहा गया है।"

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned