दार्जिलिंग में पुलिस और गोरखा जन मुक्ति मोर्चा समर्थकों में संघर्ष, पुलिस कर्मी की मौत

mohit1 sharma

Publish: Oct, 13 2017 01:03:18 (IST)

Crime
दार्जिलिंग में पुलिस और गोरखा जन मुक्ति मोर्चा समर्थकों में संघर्ष, पुलिस कर्मी की मौत

दार्जिलिंग में जारी जीजेएम के बंद और हिंसक घटनाओं के बाद वेस्ट बंगाल में एक बार फिर बड़ी घटना सामने आई है।

नई दिल्ली। दार्जिलिंग में पुलिस और गोरखा जनमुक्ति मोर्चा समर्थकों के बीच हुए संघर्ष एक पुलिस कर्मी की मौत हो गई है। पुलिस के मुताबिक यह झड़प सुबह 5:00 बजे उस समय शुरु हुई जब पुलिस के एक खोजी दल ने पातलेबास क्षेत्र के निकट जंगल के भीतर एक ठिकाने पर छापा मारा।

हथियार बनाने की फैक्ट्री पर मारा था छापा

दरअसल, पिछले लंबे समय से दार्जिलिंग में जारी जीजेएम के बंद और हिंसक घटनाओं के बाद वेस्ट बंगाल में एक बार फिर बड़ी घटना सामने आई है। यहां दार्जिलिंग में पुलिस ने अवैध रूप से चल रहे हथियार बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड किया इसके बाद से ही पुलिस से झड़प शुरु हो गई है। जिसमें दोनों के बीच हुई मुठभेड़ में कई पुलिस कर्मी घायल हो गए, जिसको नजदीकि हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, लेकिन इलाज के दौरान एक पुलिस की मौत हो गई। बता दें कि गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम के तहत अगस्त में गुरंग पर मामला दर्ज हुआ था। उन पर दार्जिलिंग और आस-पास के क्षेत्रों में हुई बम विस्फोट की घटनाओं में शामिल होने का आरोप भी है।

 

क्या है मामला

बता दें कि वेस्ट बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने पिछले दिनों दार्जिलिंग समेत पूरे राज्य के सभी स्कूलों में हिंदी पढ़ाने का आदेश दिया था। जीजेएम ने इस धरना प्रदर्शन का विरोध करते हुए हड़ताल शुरू कर दी थी। वहीं राज्य पुलिस ने उनके धरना प्रदर्शन को दबाने के लिए बल का प्रयोग किया था, जिसके बाद दार्जिलिंग में हिंसा भडक़ गई थी और जीजेएम समर्थकों ने हिंसा और तोडफ़ोड़ शुरू कर दी थी। इसके बाद जीजेएम प्रमुख बिमल गुरुंग के खिलाफ पुलिस ने छापेमारी शुरू कर दी थी, जिसके आक्रोशिर जीजेएम ने पहाड़ी क्षेत्र में बंद का एलान कर दिया था। वहीं दूसरी इस घटना ने जीजेएम की ओर से अलग प्रदेश बनाने की मांग तेज हो गई है, जिसको लेकर क्षेत्र में अशांति बनी हुई है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned