सूरजकुंड घूमने गए जेएनयू छात्रों से मारपीट, छात्रा से बलात्कार की कोशिश

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के एक छात्र की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाते हुए लाठियों से हमला करने का मामला सामने आया है।

By: kundan pandey

Updated: 18 Aug 2017, 01:08 PM IST

फरीदाबाद। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के एक छात्र की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाते हुए लाठियों से हमला करने का मामला सामने आया है। छात्र थाना सूरजकुंड क्षेत्र स्थित झील में दोस्तों के साथ घूमने गया था। छात्रों के समूह के साथ एक छात्रा भी थी, जिसके साथ छेड़छाड़ और दुष्कर्म करने की कोशिश की गई। छात्रा की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज कर थाना सूरजकुंड पुलिस को भेजी है। छात्रा का आरोप है कि फरीदाबाद पुलिस ने उनसे जबरन यह लिखवा लिया के वे कोई कानूनी कार्रवाई नहीं चाहते और मामला दर्ज नहीं किया।

विद्यार्थी ने बगैर किसी दबाव के दिया था बयानः एसएचओ
सूरजकुंड के एसएचओ का कहना है कि यह आरोप गलत है। सीसीटीवी फुटेज में साफ है कि विद्यार्थी ने बगैर किसी दबाव के बयान दिया है। जेएनयू की विद्यार्थी ने दिल्ली पुलिस को दी शिकायत में बताया कि 14 अगस्त को जेएनयू के 6 छात्र और वह असोला वन्यजीव अभयारण्य के अंदर बनी एक झील के पास गए थे। रात लगभग 8:30 बजे वे लौट रहे थे। शिकायतकर्ता अपने दो दोस्तों के साथ बाइक पर सवार होकर मुख्य रोड पर जा रही थी जबकि इनके चार दोस्त पीछे पैदल आ रहे थे।

लोगों ने उन पर लाठियों से किया हमला
आरोप है कि रास्ते में कुछ युवकों ने बाइक रुकवा ली। उनके साथ एक अल्पसंख्यक छात्र भी था। रास्ते में मिले युवक धार्मिक भावनाएं भड़काने वाली बात कहकर उसे परेशान करने लगे। छात्रों ने विरोध किया, लेकिन वे नहीं माने। आरोपियों ने लड़की से अश्लील हरकत की और दुष्कर्म का भी प्रयास किया। करीब आठ-नौ लोगों ने उन पर लाठियों से हमला कर दिया।

आरोपियों ने छात्रों की आईडी मांग ली और मोबाइल तोड़ दिया
आरोपियों ने उनकी आईडी मांग ली और मोबाइल भी तोड़ दिया। आरोप है कि जेएनयू के छात्र इसकी शिकायत देने थाना सूरजकुंड गए तो पुलिस ने उनसे जबरन यह लिखवा कर साइन करवा लिया कि वे कोई कार्रवाई नहीं चाहते। इसके बाद छात्रा ने दिल्ली पुलिस को शिकायत दी। शिकायत पर वसंत कुंज थाने ने जीरो एफआईआर कर थाना सूरजकुंड पुलिस को भेज दिया। थाना सूरजकुंड प्रभारी इंस्पेक्टर पंकज ने बताया कि स्टूडेंट मानव रचना यूनिवर्सिटी के सामने मौजूद खूनी झील पर गए थे। वहां पर तमाम चेतावनी लिखी गई हैं, इसके बावजूद वे देर रात तक वहां रहे।

kundan pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned