देश में अपराध की भी राजधानी बनी दिल्ली, 2017 में सबसे ज्यादा क्राइम की वारदातें

  • राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े।
  • देश में दिल्ली में अपराध सबसे ज्यादा।
  • 2017 के आंकड़ों को किया जारी।

Amit Kumar Bajpai

October, 2307:50 AM

क्राइम

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली अब अपराध की भी राजधानी बन गई है। इसकी तुलना शिकागो से की जा रही है। दिल्ली में दर्ज अपराधों में हुई अभूतपूर्व बढ़ोतरी से पता चलता है कि यहां दुष्कर्म व हत्या जैसे जघन्य अपराधों के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। यह अपराध मुंबई, चेन्नई, कोलकाता और बेंगलूरु की तुलना में दोगुना से तिगुना तक हो गए हैं।

बॉर्डर सिक्योरिटी को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उठाया बड़ा कदम, आर्मी को 'वो' मिसाइलें दी जिनसे..

यह जानकारी नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा जारी रिपोर्ट में सामने आई है। सोमवार को जारी किए गए एनसीआरबी के नए आंकड़ों से पता चलता है कि भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के तहत अपराध के कुल पंजीकरण के मामलों में 19 महानगरों में दिल्ली का हिस्सा 40 प्रतिशत से ज्यादा है। इन महानगरों में लखनऊ, पटना व कानपुर भी शामिल हैं।

ब्रेकिंगः JK गर्वनर सत्यपाल मलिक की बड़ी चेतावनी, अगर अब नहीं सुधरे तो अंदर घुसकर कर देंगे...

ncrb_report_2017.jpg

एनसीआरबी ने वर्ष 2017 के लिए यह डाटा जारी किया। आमतौर पर भारत के सभी 36 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के दूरस्थ स्थानों के आंकड़ों को एकत्र करने और कंपाइल करने में एक वर्ष से अधिक समय लगता है।

महिलाओं के खिलाफ अपराधों में दिल्ली की हालत और खराब होती दिख रही है, जब इसके नवीनतम आंकड़ों की तुलना मुंबई या कोलकाता से की गई।

बड़ी खबरः 'चंद्रयान 2 को लेकर टूट गए सपने, आखिरकार फेल गया मिशन', क्योंकि जो चीज दिखाई दी वो तो...

एनसीआरबी आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में 2017 में दुष्कर्म के 1,168 मामले दर्ज किए गए, जबकि मुंबई में 287 मामले इसी साल के दौरान दर्ज हुए। जयपुर 210 मामलों के साथ तीसरे नंबर पर, इंदौर 206 के साथ चौथे पर रहा। कोलकाता में 15 मामले व कोयंबटूर में 2017 में कोई दुष्कर्म का मामला नहीं दर्ज किया गया।

400 हत्याओं के मामलों के साथ दिल्ली इसमें भी सबसे ऊपर है। बेंगलूरु (235 हत्याएं) दूसरे और पटना (183 हत्याएं) तीसरे नंबर पर है।

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned