निर्भया की मां बोलीं- 'आज का सूरज नहीं देख पाएंगे गुनहगार', 5.30 बजे लगेगी फांसी

  • निर्भया के गुनाहागारों को फांसी लगना हो गया तय
  • शीर्ष अदालत में भी दोषियों की कोशिश नाकाम साबित
  • सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की याचिका को खारिज कर दिया

Mohit sharma

20 Mar 2020, 03:57 AM IST

नई दिल्ली। निर्भया के गुनाहागारों को फांसी लगना तय हो गया है। हाईकोर्ट के बाद अब देश की शीर्ष अदालत में भी दोषियों की आखिरी कोशिश नाकाम साबित हुई। सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की ओर से दाखिल याचिका को खारिज कर दिया है। अब पूर्व के आदेशानुसार आज यानी शुक्रवार तिहाड़ जेल में सुबह 5.30 बजे दोषियों को फांसी दे दी जाएगी। वहीं, सुप्रीम कोर्ट का फैसला आते ही निर्भया की मां आशा देवी की आंखों से आंसू छलक आए। आशा देवी ने देश की न्यायपालिका, मीडिया और देशवासियों को इस जीत का श्रेय दिया।

 

इस दौरान मीडिया से बात करे हुए आशा देवी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के साथ ही दोषियों की फांसी के बीच से आज आखिरी रोडा भी हट गया। आज उनको फांसी पर लटकाया जाएगा। उन्होंने न्यायपालिका का धन्यवाद करते हुए कहा कि देर आए लेकिन दुरुस्त आए। निर्भया की मांग ने कहा कि आज पूरे समाज के लोग हमारे साथ खड़े हैं। हम साल भर से पटियाला कोर्ट में अपील करके लड़े रहे थे। एक—एक दिन में हम दो—दो बार कोर्ट में गए हैं। लेकिन आखिरकार हमें आज इंसाफ हुआ है। उन्होंने कहा कि सात साल पहले जो घटना हुई थी, जब पूरा देश शर्मसार हुआ था। आज पूरे देश को इंसाफ मिला है।

 

आशा देवी ने आज के इस इस ऐतिहासिक दिन को देश की बच्चियों के नाम कहा। उन्होंने कहा कि आज का सूरज हमारे देश की बच्ची और महिलाओं के नाम है।

 

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned