जीडीपी की नई परिभाषा, गैस, डीजल, पेट्रोल के बढ़ाओ दाम

जीडीपी की नई परिभाषा, गैस, डीजल, पेट्रोल के बढ़ाओ दाम

Rajesh Kumar Pandey | Publish: Sep, 06 2018 11:43:14 AM (IST) Damoh, Madhya Pradesh, India

सरकार बनते ही व्यापमं के दोषियों को भेजेंगे जेल

दमोह. जीडीपी की वर्तमान में नई परिभाषा है, गैस, डीजल, पेट्रोल के दाम रोज बढ़ाओं यही देश की जीडीपी है, जिसमें महंगाई दर उच्चतम पर और रुपया नीचे आ गया है।
यह बात मप्र चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को हटा में परिवर्तन यात्रा की विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कही। सिंधिया बड़े सरल और सहज शब्दों में मुख्यमंत्री के जनदर्शन से भी ज्यादा भीड़ देखकर जल्दबाजी के बजाए उन्होंने अपना भाषण करीब पौन घंटे तक खींचा। जनता भी चटखारे लेकर शिवराज व मोदी के विरुद्ध सिंधिया के बोलों को सुनती रही। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार बनेगी तो किसानों का कर्जा माफ दस दिन के अंदर करेगी। उन्होंने कहा कि आपके जिले में राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण के तहत जब में ऊर्जा मंत्री था तब खंभे, तार व ट्रांसफार्मर रखवाए थे। आपने इस बात पर ताली नहीं बजाई क्योंकि शिवराज सिंह ने उसमें करंट नहीं पहुंचाया है। सिंधिया किसानों, बिजली, सड़क के भाषणों पर जनता से पूछते रहे और जनता हाथ हिला-हिलाकर उनका समर्थन करती नजर आई। उन्होंने अपने पूरे भाषण में तुकबंदी का इस्तेमाल किया। जिसमें उन्होंने कहा कि अगर आपको कोई योजना की परमीशन चाहिए तो कमीशन देना होगा, अगर अपने शिवराज सिंह सरकार को चौथी बार चुना तो अगली बार रेत मिलेगी राशन में, शिवराज की बातें लबालब, नतीजे ठनठन गोपाल का इस्तेमाल कर जनता की वाहवाही लूटी।
प्रधानमंत्री के मित्रों की है फसल बीमा कंपनी
किसानों के खातों से फसल बीमा की राशि उनकी बगैर मर्जी के काट ली जाती है, लेकिन जब बीमा देने की बारी आती है तो किसी के लिए एक रुपया और किसी के लिए कुछ नहीं मिलता है। वह इसलिए कि प्रधानमंत्री फसल बीमा सरकार नहीं करती है, प्रधानमंत्री के मित्रों की निजी कंपनियां करती हैं, जिसमें बड़ी राशि प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के लिए भेंट की जाती है।
दो पार नहीं कर पाए क्या करेंगे 200 पार
सिंधिया ने चटकारे लेकर कहा कि भाजपाई इस बार नारा दे रहे हैं कि अबकी बार 200 पार तो मैं उन भाजपाईयों से उपचुनाव में कहता था कि पहले चंबल की दो सीटें तो पार कर लो फिर 200 पार कर लेना। दोनों सीटें कांग्रेस की झोली में गई थीं।
मुझे दी थी जान से मारने की धमकी
मुझे हटा आने पर गोली मारने की धमकी दी गई थी। तो मैं बता देना चाहता हूं कि सिंधिया खानदान उन वीरों में से हैं, जो जनता के लिए अपनी जान की बाजी लगाने के कभी पीछे नहीं रहा है। यदि जरूरत पड़ी तो मैं अपना खून बहाने के लिए भी तैयार हूं। मैं ऐसी धमकियों से डरने वाला नहीं हूं।
जो दादी के आगे दुबले-पुतले थे वे आज हट्टे-कट्टे
जो मेरी दादी के आगे पीछे दुबले पतले स्वरूप में घूमते थे आज वही लोग भ्रष्टाचार कर जनता की सेवा के नाम पर हट्टे कट्टे होकर घूम रहे हंै। इसके बाद भी यह लोग सिंधिया परिवार पर निशाना साध रहे है, मैं यह बता देना चाहता हूं ज्योतिरादित्य सिंधिया कल भी दुबला था आज भी दुबला है। जब तक जनता की सेवा करुंगा, तब तक दुबला ही रहूंगा।
ऐसी सरकार हटाना है
आज विद्यालयों में शिक्षक नहीं है, तो वही दूसरी ओर अस्पतालों में डॉक्टर नहीं हैं। अगर डॉक्टर हैं तो दवाई नहीं ंहै। हटा अस्पताल में महिला डॉक्टर नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का शिक्षित युवा बेरोजगार है। जिन्हें कांग्रेस की सरकार आने पर रोजगार प्रदान किए जाएंगे। मध्यप्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं। किसानों के सीने पर गोलियां दागी जा रही है। ऐसी सरकार को हटाना है।
प्रत्याशी कोई भी हो मेरा चेहरा याद रखे
हटा की जनता से सिंधियां ने दोनों हाथ उठाकर संकल्प कराया कि कांग्रेस पार्टी किसी भी प्रत्याशी को मैदान में उतारे आपको कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए जो वोट देना है वह मेरा (सिंधिया) का चेहरा देखकर देना है।
हर ग्राम पंचायत में खोलेगे गौ-शाला
दमोह जिले की सीमा में प्रवेश के बाद हटा पहुंचने के दौरान मुझे बहुत दुख हुआ कि सड़कों पर हजारों गाय लावारिस हैं, वह भी उनके राज में जिसमें गौ-सेवकों की संख्या ज्यादा है। हिंदू धर्म संस्कार हममें भी हैं, हम भी गाय का महत्व पहचानते हैं हमारी सरकार बनती है तो हर ग्राम पंचायत में एक गौ-शाला खोली जाएगी और उसका पूरा खर्चा सरकार उठाएगी।
गुबरा से गैसाबाद तक कदम-कदम पर स्वागत
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जबलपुर के बाद दमोह की सीमा में बुधवार की दोपहर 2.१० बजे प्रवेश किया था। गुबरा, सिंग्रामपुर, जबेरा, नोहटा, अभाना, टोल नाका, सागर नाका, इमलाई, हटा नाका, लक्ष्मण कुटी, मुडिय़ा, पालर, बनगाव, कंजरा, लुहारी, हटा, विनती, कचनारी, गैसाबाद में जगह-जगह स्वागत किया।
आतिशबाजी कर किया स्वागत
पूर्व नपा अध्यक्ष मनु मिश्रा ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ जबलपुर टोल नाका पर गाजे-बाजे व आतिशबाजी के साथ स्वागत किया। इस दौरान मिक्की चंदेल, यशपाल ठाकुर, जगजीत सिंह बिल्लू बाधवा सहित मनु मिश्रा के समर्थकों की मौजूदगी रही। इमलाई में कांग्रेस सेवा दल अध्यक्ष वीरेंद्र दवे, पूर्व सरपंच मोहन के नेतृत्व में स्वागत किया गया। हटा पहुंचने पर प्रदीप खटीक व दीपेश पटेरिया की अगुवाई में स्वागत किया गया।
जनदर्शन का फटा कुर्ता पहनकर पहुंचे
मुख्यमंत्री जनदर्शन यात्रा जब हटा पहुंची थी तो पुष्पेंद्र हजारी ने विरोध प्रदर्शन किया था। इस दौरान उन्होंने पुलिस पर कुर्ता फाडऩे का आरोप लगाया था। सिंधिया की सभा में वही फटा कुर्ता पहनकर पहुंचे और आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ने उनका कुर्ता फाड़ दिया था।
बुंदेली लठ्ठ लेकर पहुंचे कार्यकर्ता
हटा पहुंची कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा के दौरान युवा नेता अनुराग वर्धन सिंह हजारी के समर्थक बड़ी संख्या में चौथे मील वाहन रैली लेकर पहुंचे। जहां अधिकांश युवा व वरिष्ठ तबका लठ्ठ लेकर पहुंचा। कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुए यह कहते हुए देखे गए कि हमारे नेता सिंधिया को गोली मारने की धमकी दी गई थी। इसी को लेकर हम यह बुंदेली लठ्ठ लेकर आए हंै। वही कांग्रेस नेता अनुराग वर्धन ने बताया कि हम गांधी वादी विचारधारा के लोग हैं जैसे गांधी जी एक लाठी के सहारे पूरे देश को अंग्रेजों से आजाद कराने लड़े। इसी तरह हम सब भाजपा सरकार को सत्ता से उखाड़ फैंकने के लिए बुंदेली लठ्ठ का इस्तेमाल कर रहे हैं।
ये रहे मंचासीन
पूर्व मंत्री राजा पटेरिया, गोविंद सिंह, पवई विधायक मुकेश नायक, जबेरा विधायक प्रताप सिंह लोधी, पूर्व विधायक स्नेह सलीला हजारी, जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन, पूर्व नपा अध्यक्ष मनु मिश्रा, तान्या सॉलोमन, प्रदीप खटीक, प्रदुम्मन सींग, गौरव पटेल, पुष्पेंद्र हजारी, कमलेश भारद्वाज, साधना भारती, मंजुलता श्रीवास्तव, रामनाथ राय, परषोत्तम पन्या सहित हटा क्षेत्र के नेताओं की मौजूदगी रही।
लक्ष्मण कुटी में किया नजरबंद
सपाक्स के संभागीय अध्यक्ष मनोज देवलिया सिंधियां का विरोध करने की रणनीति बनाकर लक्ष्मण कुटी मंदिर में बैठेे थे। कोतवाली पुलिस को भनक लगते ही टीआई अरविंद दांगी ने बड़ी होशियारी से मनोज व उनके साथियों को नजरबंद कर लिया और लक्ष्मण कुटी से काफिला बगैर बाधा के निकल गया।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned