दलितों के घर नेताओं के खाना खाने पर एमपी की इस विधायक ने पूछा बड़ा सवाल

विधायक ने मंच से पूछा कि जब भी कोई नेता गरीब के घर रोटी खाता है तो बड़े-बड़े फोटो क्यों छपते हैं...

By: Shailendra Sharma

Published: 28 Feb 2021, 05:18 PM IST

दमोह. दमोह की पथरिया से बसपा विधायक रामबाई अक्सर अपने बयानों और कार्यप्रणाली को लेकर मीडिया की सुर्खियों में रहती हैं। एक बार फिर रामबाई ने ऐसी बात कही है जिससे वो सुर्खियों में बनी हुई हैं। इस बार रामबाई ने बिना नाम लिए उन नेताओं पर निशाना साधा है जो दलित लोगों के घर खाना खाते हैं और फिर उनके खाना खाने की बड़ी-बड़ी तस्वीरें छपती हैं। रामबाई अपनी विधानसभा में एक कार्यक्रम के दौरान लोगों को संबोधित कर रही थीं ।

 

'जो खाना खाने आते हैं क्या वो दिल से अपनाते हैं'
बसपा विधायक रामबाई ने मंच से कहा कि हम एससी समाज से पूछ रहे हैं कि जो नेता आफके घर खाना खाने आते हैं, शादी समारोह में आते हैं क्या वो आपको सच में दिल से अपनाते हैं। जिस पर भीड़ ने जोर से चिल्लाकर कहा नहीं..इसके बाद विधायक रामबाई ने कहा कि यदि वो नेता हृदय से दलितों को नहीं अपनाते हैं तो फिर ये दिखावा क्यों करते हैं ? विधायक रामबाई यहीं नहीं रुकीं उन्होंने आगे कहा कि यदि दलित समाज का व्यक्ति ऊंचे पद पर होता है तो सभी समाज के व्यक्ति उसके पैर छूते हैं उसकी इज्जत करते हैं लेकिन यदि उसी समाज के व्यक्ति के पास कुछ नहीं है तो उसे नजरअंदाज कर देते हैं, उसे छूते तक नहीं है। रामबाई ने कहा कि ऐसा होने का कारण कोई और नहीं बल्कि आप खुद हैं। क्योंकि जब तक आप अपने जनप्रतिनिधि चुनकर नहीं भेजेंगे आपके हक की लड़ाई कोई और नहीं लड़ेगा। रामबाई ने सवालिया लहजे में ये भी कहा कि जो भी नेता या मंत्री दलितों के घर रोटी, पानी शादी ब्याह मे खाना खाने या मिलने आते हैं अगर वो दलितों को हृदय से नहीं अपनाता है तो उसे आपके घर आकर रोटी खाने की क्या जरुरत है? क्यों उनकी बड़ी बड़ी फोटो अखबारों और टीवी न्यूज चैनलों पर छपती व चलती हैं कि फलाने नेता ने दलित के घर जमीन पर बैठकर खाना खाया। जबकि किसी बड़े आदमी के घर खाना खाने पर तो फोटो नहीं छपती। क्योंकि तुम्हारे मन में भेदभाव है तुम छुआछूत को मानते हो इसलिए दिखावा करते हो।

 

फिल्म तांडव का किया जिक्र
रामबाई ने अपने संबोधन में हाल में आई फिल्म तांडव का जिक्र करते हुए कहा कि हमने फिल्म तांडव देखी है उसमें एक नेताजी अपने साथ गंगाजल लेकर चलते हैं और जब भी किसी एससी समाज के घर जाते थे तो लौटकर गाड़ी में बैठकर गंगाजल पी लेते थे और अपने ऊपर गंगाजल छिड़क लेते थे । ये फिल्म में हो रहा था असलियत में क्या होता है ये हम नहीं जानते, नेता क्या करते हैं ये तो भगवान ही जाने।

देखें वीडियो- टीएमसी का मतलब तोड़ो, मारो, काटो पार्टी- शिवराज

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned