दमोह लेफ्ट-राइट के बंधन से मुक्त खुलेगा पूरा बाजार

दुकानदारों के विरोध बाद कलेक्टर ने जारी किया आदेश

 

By: Rajesh Kumar Pandey

Published: 11 Jun 2021, 09:17 PM IST

दमोह. दमोह जिले में दाएं-बाएं की दुकाने खोलने का बंधन शुक्रवार को समाप्त कर दिया गया है। दुकानदारों के विरोध को देखते हुए कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य ने इस संदर्भ आदेश जारी कर दिया गया है।
कलेक्टर ने बताया कि व्यापारियों व लोगों द्वारा लगातार पूरा बाजार खोले जाने की मांग की जा रही थी। जिस पर प्रभारी मंत्री से चर्चा की गई। इसके साथ ही एक प्रस्ताव बनाकर भेजा गया था। जिसे स्वीकृत कर लिया गया है। शनिवार से दमोह जिले की सभी तरफ की पूरी दुकानें खोली जाएंगी।
कलेक्टर एसकृष्ण चैतन्य ने बताया कि अन्य जिलों में कोरोना केस कम हो रहे हैं, दमोह शहर में भी कमी देखी जा रही है। इसके अलावा दुकानदारों व अन्य जनप्रतिनिधियों द्वारा भी पूरी दुकानें खोलने के लिए कहा जा रहा था। जिसका एक प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा गया था। शुक्रवार को कोरोना प्रभारी मंत्री से चर्चा के बाद यह आदेश जारी किया गया है कि शनिवार को दमोह का पूरा बाजार खुलेगा। कलेक्टर ने कहा है कि बाजार पूरा खुल रहा है लेकिन सभी को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। जिसमें लापरवाही नहीं बरतनी है। जिस तरह की सर्तकता से हमने कोरोना के काफी केस कम कर दिए हैं, उसी तरह हम आगामी समय में कोरोना के केसेस कम करने के लिए स्वयं जिम्मेदारी संभालेंगे। कलेक्टर ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि बाजार पूरा खोल दिया गया है अब सर्तकता और सुरक्षा की जिम्मेदारी जनता की है, जिसे स्वयं अपनी सुरक्षा करते हुए कोरोना से बचना है।
शुक्रवार को ही खोल लीं थी दुकानें
जिला व्यापारी महासंघ के सदस्य जो घंटाघर से एवरेस्ट लॉज के क्षेत्र में दुकानें खोले हैं, इनके द्वारा गुरुवार को अध्यक्ष के समक्ष अपना निर्णय सुना दिया था कि वह दोनों की ओर दुकानें खोलेंगे। जिससे शुक्रवार को सुबह से इस लाइन की दोनों की ओर की दुकानें खुली हुई थीं। केवल आधे शटर लटकाए गए थे। इसके अलावा अन्य क्षेत्रों के दुकानदार भी अपनी बारी न होने के बावजूद भी दोनों ओर की दुकानें खोले हुए थे।
पब्लिक में जागरुकता की जरुरत
आर्थिक रूप से पिछड़े जिले का बाजार कोरोना काल में भीषण मंदी झेल रहा है। अधिकांश दुकानदार किराए की दुकानों से अपनी आजीविका का निर्वहन कर रहे हैं। दमोह शहर की जनता को जागरुक किए जाने की आवश्यकता पर बल दिया जा रहा है। दुकानदार से लेकर जिला अस्पताल के चिकित्सक भी यह बात कई बार कह चुके हैं। दमोह जिले की जनता यदि सर्तकता और सुरक्षा के प्रति सजग हो जाए तो जिले में कोरोना को हराना आसान होगा।

 
Rajesh Kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned