2013 में भाजपा को बूथ पर 656 व कांग्रेस को 568 मिले थे मत

2013 में भाजपा को बूथ पर 656 व कांग्रेस को 568 मिले थे मत

Rajesh Kumar Pandey | Publish: Sep, 03 2018 12:31:31 PM (IST) Damoh, Madhya Pradesh, India

कांग्रेस और भाजपा अब बूथों के नंबर बढ़ाने के लिए लगा रहे हैं जोर

दमोह. दमोह जिले में विधानसभा चुनाव 2013 में बूथ पर सबसे ज्यादा मत 656 भाजपा को मिले थे। वहीं कांग्रेस को 568 मत सर्वाधिक मिले थे। वहीं 2008 में बूथ पर भाजपा को 369 व कांग्रेस को 450 मत मिले थे।
दमोह जिले में बूथों पर 2008 की अपेक्षा 2013 में कांग्रेस व भाजपा के मत बढ़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। अब दोनों दल बूथों पर सर्वाधिक मत संख्या बढ़ाने के लिए काफी पहले से प्रयास कर रहे हैं।
भाजपा ने इस बार बूथों को तीन कैटेगरी में बांटे गए हैं। जिनमें 70 फीसदी मत वाले बूथों को ए श्रेणी में रखा गया है। 50 प्रतिशत मत वाले बूथों को बी श्रेणी में व 40 प्रतिशत मत वाले बूथों को सी कैटेगरी में बांटा गया है। भाजपा बूथ जीता तो चुनाव जीता नारे पर काम कर रही है।
कांग्रेस भी इस बार अपने चुनाव अभियान की शुरूआत बूथों की मजबूती से ही कर रही है। कांग्रेस ने जिले के सभी बूथों पर बीएलए बनाए हैं। जो मतदाता सूचियों की जांच कर रहे हैं। कांग्रेस का पहला टार्गेट है कि बूथ पर फर्जी बोगस व डुप्लीकेट मतदाताओं की पहचान कर उनके नाम कटवाने का है। जिसमें कांग्रेस को सफलता ही मिल रही है। 31 अगस्त को कांग्रेस ने दमोह विधानसभा क्षेत्र में 22 हजार से अधिक फर्जी मतदाताओं का खुलासा किया है।
युवा वोटर नीतेश दुबे का कहना है कि वह 19 साल के हो गए हैं। पहली बार विधानसभा चुनाव में वोट डालेंगे। इस बार कांग्रेस व भाजपा दोनों बूथ स्तर पर वार्डों में चुनाव के पहले नजर आने लगे हैं।
महिला वोटर रश्मिी वर्मा का कहना है कि पिछले चुनावों से मतदाताओं ने अपने वोट का महत्व समझा है, जिससे मतदान केंद्रों पर वोट का प्रतिशत 2013 से अत्याधिक जाएगा, क्योंकि इस बार मतदाताओं को जागरुक करने के लिए सरकारी व राजनीतिक दलों द्वारा अभियान चलाए जा रहे हैं।
इलेक्ट्रनिक्स व्यवसायी बंटी ठाकुर का कहना है कि पिछले दो चुनावों में मतदाताओं में जागरुकता नहीं दिख रही थी, लेकिन इस बार बूथों पर विशेष फोकस मतदाताओं का है, जिससे इस बार हार जीत का अंतर भी बढ़ेगा और वोट प्रतिशत भी बढ़ेगा।
वर्जन
भाजपा इस बार बूथ जीता तो चुनाव जीता पर चुनाव की तैयारी कर रही है। पूरे जिले में बूथों को मजबूती देने के लिए भाजपा ने काफी पहले तैयारी कर ली थी। जिस पर अमल किया जा रहा है।
देव नारायण श्रीवास्तव, जिलाध्यक्ष, भाजपा दमोह
वर्जन
पूर्व के चुनावों पर बूथों में मिले मतों की समीक्षा करने के बाद इस बार कांग्रेस ने बूथ स्तर पर मंडलम, सेक्टर प्रभारी व बीएलए की नियुक्ति की गई है। निश्चित ही 2018 में बूथों पर मत की संख्या बढ़ाई जाएगी।
अजय टंडन, जिलाध्यक्ष कांग्रेस दमोह

Ad Block is Banned