कृषि विभाग के अधिकारियों को लगाई फटकार

Agriculture department officials reprimanded - उद्योग मंत्री परसादीलाल मीना ने ली बैठक

By: Rajendra Jain

Published: 29 Jun 2020, 10:10 PM IST

लालसोट. उद्योग मंत्री परसादीलाल मीना ने सोमवार को कृषि विभाग के अधिकारियों की कार्यशैली पर नाराजगी जताकर फटकार भी लगाई। रामगढ़ पचवारा उपखण्ड अधिकारी कार्यालय में सोमवार को बैठक के दौरान उद्योग मंत्री ने कृषि पर्यवेक्षकों से बाजरे के मिनीकिट्स वितरण के बारे में जानकारी चाही तो ना तो वे ना तो सही जानकारी दे पाए और ना ही लाभान्वितों की सूची से अवगत कराया। इस पर मंत्री मीना ने कहा कि अब पुराना रवैया नहीं चलेगा। लालसोट में नौकरी करनी है तो मुख्यालय पर रहना होगा। किसानों को कृषि के बारे में पूर्ण जानकारी देनी होगी तथा मिनीकिट वितरण से पूर्व उपजिला कलक्टर से मिलकर ग्राम पंचायत स्तरीय कमेटी के समक्ष पात्रा किसानों में वितरित करना होगा। मंत्री परसादीलाल मीना ने कहा कि कृषि विभाग के अधिकारी अपने रवैये में सुधार करे तथा पात्र किसानों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलवाने के लिए सक्रिय रहकर कार्य करे। कृषि विभाग के उपनिदेशक व सहायक निदेशक ने सहायक कृषि अधिकारियों व कृषि पर्यवेक्षकों के रिक्त पदों के बारे में बताया। इस दौरान मंत्री ने राज्य सरकार द्वारा प्रसारित प्रचार सामग्री का विमोचन कर सभी को कोरोना जागरुकता व एडवाइजरी की पालना करने व कराने की शपथ दिलाई। उप जिला कलक्टर सरिता मल्होत्रा, जयपुर विद्युत वितरण निगम अधीक्षण अभियन्ता आरके मीना, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियन्ता रामनिवास मीना, उप निदेशक कृषि विस्तार श्रीकान्त अग्निहोत्री, विकास अधिकारी योगेशकुमार मीना, तहसीलदार बद्रीनारायण मीना, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के सहायक निदेशक रामजीलाल मीना, बीसीएमएचओ डॉ. धीरज शर्मा आदि मौजूद थे।


अस्थाई मोर्चरी तैयार करने के दिए निर्देश
लालसोट. शहर में मोर्चरी का अभाव झेलने वाले चिकित्सा विभाग को शीघ्र ही एक अस्थाई मोर्चरी की सुविधा मिल जाएगी। ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. धीरज शर्मा ने बताया कि इस बारे में गत दिनों उद्योग मंत्री परसादीलाल मीना को अवगत कराए जाने के बाद उन्होंने मौके पर ही नगर पालिका के ईओ को निर्देश दिया कि स्थाई मोर्चरी का निर्माण नहीं होने तक कोथून रोड स्थित मोक्ष धाम पर बने एक तिबारे को फाईबर से पैक करते हुए अस्थायी मोर्चरी के तौर पर बना दिया जाए। गौरतलब है कि शहर में मोर्चरी का अभाव होने से आए दिन होने वाले विभिन्न हादसों व अन्य घटनाओं के मृतकों का खुले में या किसी कपड़े की ओट लगाकर पोस्टमार्टम करना पड़ता है।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned