दौसा. साइंस मैथ्स में पांच गुना आवेदन तो वाणिज्य में 20 प्रतिशत भी नहीं

Dausa कला व विज्ञान संकाय में सैकड़ों छात्र प्रवेश से रहेंगे वंचित

By: Rajendra Jain

Published: 16 Sep 2021, 09:57 AM IST

दौसा. जिले के सबसे बड़े कॉलेज पंडित नवलकिशोर शर्मा राजकीय पीजी महाविद्यालय में प्रथम वर्ष में ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो गई है। इसमें खास बात यह रही कि उपलब्ध सीटों की तुलना में एक तरफ तो साइंस मैथ्स में पांच गुना अधिक आवेदन आए, वहीं वाणिज्य संकाय में पांच गुना कम आवेदन आने से सीटें खाली रह गई।
जानकारी के अनुसार स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश के लिए 18 अगस्त से 14 सितम्बर तक ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया चली। पीजी कॉलेज में कुल 3928 सीटों के लिए 9506 छात्रों ने आवेदन किए हैं। कला संकाय प्रथम वर्ष में 2900 सीटें हैं, जबकि ढाई गुना अधिक 6 हजार 973 प्रवेश आवेदन आए हैं। इसी तरह साइंस बॉयोलॉजी में 264 सीटों पर करीब चार गुना अधिक 1 हजार 83 आवेदन जमा हुए। वहीं सर्वाधिक मारामारी साइंस मैथ्स में है। 264 सीटों की तुलना में पांच गुना से भी अधिक 1 हजार 352 आवेदन जमा हुए हैं। ऐसे में कला व विज्ञान संकाय में कट ऑफ प्रतिशत उच्च रहने की संभावना है। सैकड़ों छात्र प्रवेश से वंचित रहेंगे।

महिला कॉलेज में 2445 आवेदन
श्रीसंत सुंदरदास राजकीय महिला महाविद्यालय में कुल 976 सीटों के लिए स्नातक प्रथम वर्ष में 2 हजार 445 आवेदन जमा हुए हैं। प्राचार्य डॉ. संतोष गढ़वाल ने बताया कि बीए पार्ट प्रथम में 700 सीटों के लिए 1967, साइंस बॉयोलॉजी में 88 सीटों पर 292 व साइंस मैथ्स में 88 सीटों पर 156 फॉर्म जमा हुए हैं। वहीं वाणिज्य वर्ग में 100 सीट हैं, लेकिन आवेदन मात्र 30 आए हैं।

अंतरिम वरीयता व प्रतीक्षा सूची 20 को
पीजी कॉलेज में स्नातक प्रवेश प्रक्रिया के नोडल अधिकारी अभिषेक वशिष्ठ ने बताया कि 17 सितम्बर तक आवेदन पत्रों का ऑनलाइन सत्यापन होगा। प्रथम अंतरिम वरीयता सूची व प्रतीक्षा सूची का प्रकाशन 20 सितम्बर को होगा। मूल दस्तावेजों का सत्यापन व ई-मित्र पोस्टिंग की अंतिम तिथि 25 व अभ्यर्थियों द्वारा ई-मित्र पर शुल्क जमा कराने की अंतिम तिथि 27 सितम्बर है। प्रवेशित विद्यार्थियों की प्रथम सूची का प्रकाशन 29 सितम्बर, वर्ग निर्धारण व विषय आवंटन 1 अक्टूबर व शिक्षण कार्य 2 अक्टूबर से शुरू होगा।

लालसोट में सरिता मलहोत्रा व रामगढ़ पचवारा में मिथलेश मीना ने किया पदभार ग्रहण
लालसोट. लालसोट के एडीएम गोपाल जांगिड़ व रामगढ़ पचवारा एसडीएम सरिता मलहोत्रा अपने-अपने पद से रिलीव हो गए हैं। इसके बाद सरिता मलहोत्रा ने लालसोट एसडीएम व मिथलेश मीना ने रामगढ़ पचवारा एसडीएम का पदभार ग्रहण भी कर लिया है।
जानकारी के अनुसार मंगलवार को अतिरिक्त जिला कलक्टर आरके मीना ने एक आदेश जारी कर उक्त अधिकारियों को मंगलवार दोपहर बाद कार्य मुक्त करते हुए अपने नवीन पद स्थापन पर अपनी उपस्थिति प्रस्तुत करने के निर्देश दिए, इसके अलावा आदेशों में लालसोट एसडीएम सरिता मलहोत्रा को अपने पद के साथ सहायक कलक्टर का भी कार्य संपादित करने निर्देश दिए हैं।
गौरतलब है कि करीब डेढ़ माह पूर्व 27 जुलाई को राज्य सरकार की ओर से जारी 259 प्रशासनिक अधिकारियों की तबादला सूची में लालसोट विधानसभा क्षेत्र के प्रशासनिक ढांचे में भी फेरबदल किया गया था। इसके तहत लालसोट एसडीएम गोपाल जांगिड़ का तबादला करते हुए उन्हें पाली जिले में सोजत भेजते हुुुए उनके स्थान पर रामगढ पचवारा उपखण्ड एसडीएम सरिता मलहोत्रा और लालसोट में सहायक कलक्टर के पद पर कार्यरत मिथलेश मीना का रामगढ़ पचवारा तबादला कर दिया था। कुछ ही दिन बाद पांच अगस्त को पंचायत राज संस्थाओं के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा होने के साथ ही उक्त अधिकारियों के रिलीव होने में आदर्श आचार संहिता आड़े आ गई दोनों ही अधिकारियों के रिलीव व पदभार ग्रहण करने पर पेच फंस गया। इसके चलते लालसोट के एडीएम गोपाल जांगिड़ व रामगढ़ पचवारा एसडीएम सरिता मलहोत्रा ने पंचायत समिति क्षेत्र में निर्वाचन प्रक्रिया को संपन्न कराई। (नि.प्र)

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned