अप्रशिक्षित कार्मिकों के भरोसे जीएसएस

अप्रशिक्षित कार्मिकों के भरोसे जीएसएस

gaurav khandelwal | Publish: Mar, 14 2018 09:10:55 AM (IST) Dausa, Rajasthan, India

ठेके पर काम कर रहे कर्मचारी न तो जीएसएस की सुरक्षा कर पा रहे हैं और ना ही ग्रामीणों को ठीक तरीके से विद्युत सप्लाई कर रहे हैं।

 

दौसा. जयपुर डिस्कॉम ने 33/11 केवी जीएसएस अप्रशिक्षित एवं बिना अनुभव वाले कर्मचारियों के भरोसे सौंप रखे हैं। ठेके पर काम कर रहे कर्मचारी न तो जीएसएस की सुरक्षा कर पा रहे हैं और ना ही ग्रामीणों को ठीक तरीके से विद्युत सप्लाई कर रहे हैं। मनमर्जी से विद्युत सप्लाई की शिकायतें आ रही हैं। विद्युत वितरण श्रमिक संघ दौसा भी ठेके पर चल रहे विद्युत निगम जीएसएस का विरोध कर रहा है। महामंत्री हेतराम मीना के नेतृत्व में कर्मचारियों ने जिले में ठेके पर चल रहे जीएसएस पर लगे अप्रशिक्षित कर्मचारियों को हादसों का कारण माना है। उन्होंने बताया कि डिस्कॉम इन जीएसएस पर जब तक अपने कर्मचारी नियुक्त नहीं करेगा, तब तक हादसे रुकेंगे नहीं। संघ ने ठेका प्रणाली खत्म नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी।

 

 


सहायक अभियंता को ज्ञापन देकर जताया विरोध


बांदीकुई. जयपुर विद्युत वितरण श्रमिक संघ दौसा शाखा बांदीकुई के निगमकर्मियों ने मंगलवार को अधिशासी अभियंता के नाम सहायक अभियंता अनीश सैमुअल को ज्ञापन सौंपकर संविदा पर 33/11 केवी सब स्टेशन पर ठेकेदारों के अप्रशिक्षित कार्मिकों को लगाने के कारण होने वाली दुर्घटनाओं पर रोकथाम की मांग की।


जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश गुर्जर ने बताया कि जीएसएस पर ठेकेदारों द्वारा अप्रशिक्षित कार्मिक लगाने के कारण बिजली की लाइनों की मरम्मत करते समय आए दिन दुर्घटनाएं घटित हो रही हैं। गत 8 मार्च को गनीपुर महुवा में फीडर पर मरम्मत करते समय करंट प्रवाहित होने से लाइनमैन लोकेश मीणा झुलस गया, जबकि 12 मार्च को बहड़को महुवा फीडर पर लाइनमैन केदार सैनी के भी करंट लग गया। श्रमिक संघ लम्बे समय से अप्रशिक्षत कार्मिकों का विरोध करता आ रहा है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है।


उन्होंने बताया कि इस प्रकार की घटनाओं की रोकथाम के लिए ठोस कार्रवाई किए जाने के लिए सम्बंधित के खिलाफ मामला दर्ज कराया जाए। वहीं जीएसएस पर संविदा पर लगाए जाने वाले कार्मिकों के आदेश निरस्त किए जाने की मांग की। ज्ञापन सौंपने वालों में शाखा अध्यक्ष महेन्द्र पोषवाल, महामंत्री कालूराम बैरवा, प्रदेश समिति सदस्य कैलाश चौधरी सहित अन्य निगमकर्मी भी मौजूद थे।

 

 

टूलडाउन हड़ताल पर रहे बिजलीकर्मी


महुवा. ठेकेदार की लापरवाही के चलते फीडर इंचार्ज के साथ हुई दुर्घटना के विरोध में मंगलवार को सहायक अभियंता कार्यालय के सभी कर्मचारी टूलडाउन व पेनडाउन हड़ताल पर रहे। कर्मचारी यूनियन अध्यक्ष ऋषि मीणा ने बताया कि सब स्टेशनों को संविदा पर देने के बाद भी आए दिन निगम कर्मचारी दुर्घटनाओं का शिकार होते रहते हैं। इनके बारे में उच्च अधिकारियों को कई बार अवगत कराया जा चुका है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही।

 


गौरतलब है कि सोमवार को फीडर इंचार्ज केदार सैनी शटडाउन लेने के बाद भी ठेकेदार की लापरवाही के चलते करंट लगने से झुलस गया था। उसे सामुदायिक अस्पताल से जयपुर रैफर कर दिया गया। इसके विरोध में कर्मचारियों ने निगम में ठेका प्रथा बंद करने व दुर्घटना का शिकार कर्मचारी को सहायता राशि दिलवाने की मांग को लेकर निगम कार्यालय के सभी कर्मचारियों ने पेनडाउन व टूलडाउन हड़ताल पर रहकर कार्य का बहिष्कार कर विरोध जताया।

 

उन्होंने बताया कि वर्तमान में कार्य कर रही फर्म के कर्मचारियों की लापरवाही के कारण पूर्व में तीन दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। इससे कर्मचारियों में गहरा रोष व्याप्त है और जब तक बस स्टेशनों के ठेके निरस्त कराकर विभागीय कर्मचारी नियुक्त नहीं किए जाने तक कर्मचारियों का विरोध-प्रर्दशन जारी रहेगा। इस मौके सीताराम शर्मा, उदय सैनी, नगेन्द्र कौशल, वजीर खान, दीपराम, राजू, महेश प्रजापत, हरिमोहन, सुरेश प्रजापत, टीकम सैनी आदि कर्मचारी मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned