लेने आए थे तलाक, अब रहेंगे एक साथ

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

By: gaurav khandelwal

Published: 10 Mar 2019, 08:53 AM IST

दौसा. राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से जिला मुख्यालय स्थित न्यायालयों सहित सिकराय, बांदीकुई, महुवा, लालसोट न्यायालयों में लम्बित शमनीय दाण्दिक अपराध बैंक रिकवरी, एमएसीटी, पारिवारिक विवाद, श्रम विवाद, राजस्व, मजदूरी भत्ते, पेंशन भत्ते, बिजली, पानी के बिल (चोरी के अलावा) आदि के निस्तारण के उद्देश्य से जिला न्यायालय परिसर स्थित एडीआर सेन्टर पर राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया।

 

 

इस दौरान 432 प्रकरणों का निस्तारण किया गया एवं 4 करोड़ 41 लाख 28 हजार 341 रुपए की राशि अवार्डके रूप में पारित की गई। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव रेखा वधवा ने बताया कि जिला मुख्यालय पर 9 लोक अदालत बैन्चों का गठन किया गया। इस दौरान अलग-अलग रह रहे 7 दम्पितियों को साथ रहने के लिए प्रेरित किया। इस पर उन्होंने साथ रहने का निश्चय किया। इसमें एक दम्पिति तो तलाक मांगनें के लिए न्यायालय में उपस्थित हुए थे, लेकिन समझाइश के बाद नए सिरे से साथ रहने का निश्चय किया।

 

 

इस मौके पर जिला एवं सैशन न्यायाधीश गिरीश कुमार शर्मा, मोटर वाहन दुर्घटना दावा अधिकरण न्यायाधीश रमाशंकर वर्मा, पारिवारिक न्यायालय न्यायाधीश रवि शर्मा, अनुसूचित जाति-जनजाति न्यायालय विशिष्ट न्यायाधीश हेमन्तसिंह बघेला, अपर जिला एवं सैशन न्यायाधीश सोनिया बेनीवाल, मुख्य न्यायिक मजिस्टे्रट गीता चौधरी, अतिरिक् त मुख्य न्यायिक मजिस्टे्रट आंचल अग्रवाल, ग्राम न्यायालय न्यायाधिकारी हिमानी चतुर्वेदी, एडवोकेट दिनेश जोशी, कृष्णकांत शर्मा, अनिल सैनी, भुवनेश्वरप्रसाद गंगावत, कमलेश बोहरा, रमेशचंद सैनी, प्रेमचंद जैन, रामगोपाल शर्मा एवं कांउसलर मीना जैन, नगरपरिषद के राजस्व अधिकारी श्यामलाल जांगिड़, आरआई समय सिंह मीना आदि मौजूद थी। (दौसा ग्रामीण)

 

 

सिकराय (दौसा). जिला विधिक सेवा समिति दौसा की ओर से शनिवार को सिकराय कोर्ट मे राष्ट्रीय लोक अदालत आयोजित की गई। इसमे पारिवारिक विवाद के कुल 1181 प्रकरणों में से 32 प्रकरणों का निस्तारण किया गया।इस अवसर पर विघिक सेवा समिति अध्यक्ष रजनी कुमावत, सदस्य राजेश मीना जलसिंह शिवचरण, कैलाश गुर्जर निहालसिंह गोवर्धन अधिवक्ता सहित महेश मीना, धमेंन्द्र, बंटेश, पवन, अनिल मीना पूरणमल व सचिव नितिन शर्मा मौजूद थे।

 

 

महुवा. न्यायालय परिसर में शनिवार को तालुका विधिक सेवा समिति के तत्वावधान में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता न्यायिक मजिस्ट्रेट अनिता चौधरी ने की। लोक अदालत के दौरान राजीनामा योग्य दाण्डिक एनआई एक्ट, पारिवारिक, दीवानी प्रवृत्ति के कुल 15 प्रकरणों का निस्तारण राजीनामे के द्वारा कराया गया। इस दौरान अधिवक्ता हरिशंकरसिंह राजपूत, गोपाल सिंह, भुवनेश त्रिवेदी, अब्दुल हई, अशोक वशिष्ठ, महेन्द्र पालोदा, रामगोपाल, महेन्द्र शर्मा ने सहयोग किया।

 

 

लालसोट. राजस्थान राज्य विधिक प्राधिकरण के निर्देशानुसार शनिवार को तालुका विधिक सेवा समिति के तत्वावधान में लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत में अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अचला आर्य व मुसिंफ मजिस्ट्रेट मुकेश कुमार की अध्यक्षता में गठित दो बेंचों ने 60 मामलों का निस्तारण करते हुए 58 लाख 42 हजार 439 रुपए की समझौता राशि निर्धारित की गई। लोक अदालत में राजीनामा योग्य 14 अपराधिक मामलें, चैक अनादरण के 10 मामलें, वाहन दुर्घटना के 15 मामले, वैवाहिक विवाद के 4 मामले, भूमि अवाप्ति के 22 मामले एव अन्य 12 दीवानी मामलोंंं का निस्तारण किया गया। (नि.प्र.)

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned