अस्पताल पर ताला, घायल को लेकर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने बनाया वीडियो

Lock on hospital, policemen made video to reach injured: बहरावंडा पीएचसी पर रात में नदारद रहते है चिकित्साकर्मी

सिकंदरा. एक ओर सरकार जहा बेहतर चिकित्सा व्यवस्था व निरोगी राजस्थान बनाने का दावा करती है, वहीं सिकराय क्षेत्र के राजकीय अस्पतालों की व्यवस्थाएं भी खराब हो गई है। रात के समय चिकित्साकर्मियों के नहीं मिलने से मरीजों को उपचार के लिए भटकना पड़ता है। रविवार को बहरावंडा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का भी वीडियो सामने आया है। जिसमें रात के समय पुलिसकर्मी घायल को लेकर पहुंचे तो मुख्य द्वार पर ताला जड़ा हुआ मिलता है, वहीं दो दिन पूर्व सिकंदरा सीएचसी में भी प्रसव को आई महिला के उपचार में लापरवाही का वीडियो वायरल हुआ था। इसके बावजूद विभाग चिकित्साकर्मियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

Lock on hospital, policemen made video to reach injured


रविवार रात आठ बजे पुलिसकर्मी लांका गांव में टै्रक्टर की टक्कर से घायल युवक को उपचार के लिए राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बहरावंडा में लेकर पहुंचे। इस दौरान पुलिसकर्मियों को केन्द्र के मुख्य द्वार पर ताला लगा मिला। मालूम किया तो पता चला चिकित्साकर्मी रात के समय में अस्पताल में नहीं रुकते है। इस दौरान घायल रूपनारायण मीना मुख्य द्वार पर काफी देर तक तड़पता रहा।

इसके बाद पुलिसकर्मियों ने घायल का निजी अस्पताल में उपचार कराया। पीएचसी के इस घटनाक्रम को पुलिसकर्मियों ने मोबाइल में वीडियो भी बनाया है। कांस्टेबल हरिराम मीना ने बताया कि रात को घायल को लेकर बहरावंडा पीएचसी में पहुंचे तो चिकित्साकर्मी नहीं मिले। अस्पताल के मुख्य द्वार पर ताला लगा हुआ था। एसे में घायल का निजी चिकित्सकों से उपचार कराया। सुबह सिकंदरा सीएचसी में उपचार कराया।


नौ चिकित्साकर्मी है तैनात


बहरावंडा पीएचसी में चिकित्सा अधिकारी का छह माह से पद रिक्त है, लेकिन नर्सिंग स्टाफ प्रथम एक, नर्सिंग स्टाफ द्वितीय-2, एएनएम 2, एलएचवी एक, लैबटैक्नेशियन एक, एक वार्ड ब्वॉय सहित कुल नौ चिकित्साकर्मी का स्टाफ है। चिकित्सक का पद रिक्त होने से नर्सिंग स्टाफ के पास अस्पताल प्रभारी का चार्ज है। इस मामले में कार्यवाहक अस्पताल प्रभारी भगवान सहाय ने बताया कि रविवार को चिकित्साकर्मी सुबह 9 से 11 बजे तक ड्यूूटी करने के बाद घर चले गए। रात के समय एएनएम भागवंती गौसाई की ड्यटी थी। उन्होंने बताया कि अस्पताल पर ताला लगे होने का वीडियों की जानकारी मिली है। इस बारे में जांच की जा रही है।


इस संबंध में जब ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी सिकराय व मुख्य चिकित्सा अधिकारी दौसा से बात करनी चाही तो उन्होंने मोबाइल रिसीव नहीं किया।

Lock on hospital, policemen made video to reach injured

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned