अनदेखी का शिकार लवाण जीएसएस

Unseen victim Lavan GSS - उपकरणों का अभाव

लवाण. जयपुर डिस्कॉम के लवाण कनिष्ठ अभियन्ता कार्यालय में सुविधाओं का अभाव है।इस कारण बिजली आपूर्ति में परेशानी हो रही है। दिन भर में सैकड़ो बार बिजली ट्रिपिंग होने से ग्रामीणों के घरेलू उपकरण तक जल जाते हैं। सहायक अभियन्ता कार्यालय नहीं होने से ग्रामीणों को मीटर बदलवाने के लिए भी 25 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय पर जाना पड़ता है। जहां कभी अधिकारी नहीं मिलने पर किराया खर्च कर लौटना पड़ता है।
पांच फीडर व पांच ब्रेकर एक साल से खराब
कस्बे के जीएसएस पांच फीडर व ब्रेकर हैं।जो कि एक साल से खराब हैं। कस्बे सहित आस-पास के क्षेत्र में अगर कोई हादसा या फिर बिजली लाइन में फाल्ट आ जाता हैतो तूंगा जीएसएस से बिजली को कटवाना पड़ता है। जो एक बार बिजली बंद करने पर दो घंटे बाद चालू करते हैं। लोगों ने बताया कि लवाण जीएसएस के अधीन सौ से भी अधिक गांव हैं, लेकिन सुविधा के नाम पर कुछ भी नहीं है। कर्मचारियों के पास बिजली व्यवस्था को सुचारू करने के लिए प्लाश, दस्ताने, टॉर्च, फ्यूज वायर और प्राथमिक उपचार की पेटी तक नहीं है।
खम्भे भी पुराने होने से जर्जर अवस्था में पहुंच चुके हैं। खम्भों पर चढऩे के लिए सीढिय़ां भी टृटी हुई है। ऐसे में कर्मचारियों को रस्सी की सहायता से खम्भों पर चढ़ कर कार्य करना पड़ता है। फ्यूज वायर नहीं होने से 11 केवी के तार से फ्यूज को बांधना पड़ता है।
कण्डम भवन में रहने को मजबूर कर्मचारी
जीएसएस पर कनिष्ठ अभियन्ता कार्यालय भवन को कण्डम तो घोषित कर दिया, लेकिन कर्मचारियों के रहने के लिए कुछ नहीं बनाया। भवन का आगे का छज्जा टूट गया।कमरे में दिनभर चूना व छत से गिट्टियां तक गिरती रहती है।
उच्चाधिकारियों को कराया अवगत
लवाण जीएसएस के खराब ब्रेकरों को जल्दी ही सही कराया जाएगा। भवन के लिए उच्चाधिकारियों को अवगत करा रखा है।
रामहंस मीणा, सहायक अभियन्ता दौसा।।

Rajendra Jain Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned