चारधाम यात्रियों से करते थे धोखाधड़ी, अन्तरराज्जीय गैंग पकड़ा

चारधाम यात्रियों से करते थे धोखाधड़ी, अन्तरराज्जीय गैंग पकड़ा

Nitin Bhal | Publish: Jul, 20 2019 07:27:01 PM (IST) Dehradun, Dehradun, Uttarakhand, India

Chardham Heli Services: चारधाम यात्रा हेली टिकट दिलाने के नाम पर ठगी शुरू.. ( Uttarakhand police busted interstate gang ) उत्तराखंड पुलिस ने अंतराराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़ कर चार को किया गिरफ्तार ...

देहरादून (हर्षित सिंह) . उत्तराखंड पुलिस ने चारधाम ( Chardham yatra ) यात्रियों को हेली सेवा ( Heli services ) के टिकट दिलाने और विभिन्न राज्यों में होटलों की बुकिंग के नाम पर पर्यटकों से धोखाधड़ी करने वाले अंतरराज्यीय गैंग ( Uttarakhand police busted interstate gang ) का भंडाफोड़ कर दिया। इस मामले में नोएड़ा, गाजियाबाद और मैनपुरी (यूपी) से चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से दो लैपटॉप , दस मोबाइल, सात एटीएम कार्ड बरामद किए हैं। जानकारी के मुताबिक आरोपियों की पकडऩे के लिए पुलिस ने वेबसाइट और ऑनलाइन कंपनियों के पते पर दबिश देना शुरू की। 18 जुलाई को एक आरोपी सौरभ निवासी ओमनगर, मैनपुरी (उत्तर प्रदेश) पुलिस के हत्थे चढ़ गया। इसके बाद पूछताछ के आधार पर तीन आरोपियों पुनीत कुमार एवं विकास कुमार निवासी तुमौल, दरभंगा (बिहार) को नोएडा और रंजन कुमार निवासी करहरी वैशाली (बिहार) को पुलिस ने गाजियाबाद से धर दबोचा। पुलिस अधीक्षक, रूद्रप्रयाग, अजय सिंह ने बताया कि हेली सेवा से केदारनाथ जाने वाले यात्रियों से धोखाधड़ी के मामले आए। इस संबंध पीडि़तों ने शिकायत की। केदारनाथ यात्रा के लिए एक जून को हरियाणा निवासी स्वीकृति शर्मा द्वारा पवन हंस हेली सर्विस के नाम पर ऑन लाइन टिकट बुकिंग के नाम पर 12,960 रुपए ठग लिए गए। इसके अलावा चार जुलाई को मध्य प्रदेश निवासी विपिन यादव द्वारा हेली सेवा का टिकट बुक कराने के नाम पर तीन हजार पचास रुपए की धोखाधड़ी की गई । इस बारे में एफआईआर गुप्तकाशी थाना में करवाई गई थी। इन दोनों मामलों में आरोपियों के विरुद्ध भारतीय दंड सहिंता 420, 467, 468, 471, 120बी, 66-डी आईटी के तहत एफआईआर दर्ज किया गया है।

देशभर में फैला था जाल

Duping on pretext of selling Chardham heli tickets, four arrested

अजय सिंह ने बताया कि आरोपियों द्वारा चारधाम यात्रा में हेली टिकट बुकिंग के नाम पर और होटल बुकिंग के लिए उत्तराखंड, यूपी, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, गोवा में पर्यटकों से ठगी की जाती रही है। आरोपी पूर्व में यात्रा गुरु कंपनी में काम करते थे, जहां लोगों से ट्रेवल एजेंसी, हेली टिकट और होटलों की बुकिंग के नाम से धोखाधड़ी की जाती थी। इस कंपनी का संचालन राजबीर सिंह करता था, जिसे मास्टरमाइंड माना जा रहा है। पुलिस के मुताबिक गिरोह के सरगना राजबीर ने इंडियन ट्रेवल्स नाम से वेबसाइट बनाई। इसे हैलो ट्रेवल्स सहित अन्य कंपनियां लगभग 500 कस्टमर का डेटाबेस देती थीं। इसकी एवज में हर महीने कंपनियों को 25 हजार रुपए दिए जाते थे। कस्टमर डाटा बेस से आरोपी महीने में कम से कम 35 लोगों ठगते थे। इसके लिए फर्जी आईडी के सिम इस्तेमाल किए जाते थे। इन्हें उपयोग में लाने के बाद फेंक दिया जाता था।

फर्जी वेबसाइट बना ठगा

Duping on pretext of selling Chardham heli tickets, four arrested

लोगों से ठगी के लिए इनके द्वारा एशियन होलीडेज वेबसाइट भी बनाई गई थी। इस वेबसाइट के मार्फत केदारनाथ यात्रा के हेली सेवा के टिकट के नाम पर ठगी गई राशि आरोपियों के खातों में पहुंचती थी। यह खाते भी गरीबों को गुमराह कर ले लिए जाते थे। इसके बदले लिए उन्हें प्रतिमाह तीस हजार रुपए दिए जाते थे। आरोपियों पर साइबर अपराध के तहत एफआईआर दर्ज करने के बाद उन्हें कोर्ट में पेशी कर जेल भेज दिया गया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned