खूंखार साड़ ने मचाया जमकर आतंक, एक को पहुंचाया यमलोक और चार को अस्पताल

इस बार तो सांड के हमले ने कई लोगों की जान ले ली है।जिसमें 1 की मौत और कई लोग घायल हो चुके है

By: Deepak Sahu

Published: 25 Jun 2018, 12:57 PM IST

धमतरी. छत्तीसगढ़ में आवारा जानवरों की दहशत कम होने का नाम नहीं ले रही है। कभी हाथी तो कभी कुत्ते आतंक मचाते रहते है। इस बार तो सांड के हमले ने कई लोगों की जान ले ली है।जिसमें 1 की मौत और कई लोग घायल हो चुके है। पुलिस की मदद से निगम की टीम ने बड़ी मशक्कत के बाद सांड को पकडक़र कांजी हाउस पहुंचाया।

सुबह 5 बजे से ही शुरू हुआ आतंक
बता दें कि शहर में इन दिनों आवारा जानवरों के कारण लोगों में दहशत का माहौल है।प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बस्ती में सुबह सुबह 5 बजे से ही सांड ने आतंक मचाना शुरू कर दिया था। साहेब बाड़ा मार्ग में जो भी व्यक्ति गुजरता, उस पर हमला करने के लिए दौड़ पड़ता। इस बीच एक होटल मिस्त्री पवन सोनी उम्र 50 वर्ष, काम में जाने तैयार होने के लिए नहाने नाग सागर तालाब जा रहा था। तभी सांड ने उस पर हमला कर दिया।

bull attack

सींग में फंसाकर लगा जमीन पर पटकने
सांड ने उसे अपने सींग में फंसाकर जमीन पर पटक दिया।किसी तरह लोगों ने सांड को डरा कर भगाया और गंभीर रूप से घायल पवन सोनी को अस्पताल ले जाने की तैयारी कर रहे थे। तभी उसकी मौत हो गई। इस घटना के बाद भी सांड का आतंक खत्म नहीं हुआ। इस बीच युवा दीपांशु देवांगन, निगम के एक कर्मचारी समेत दो अन्य लोगों को भी उसने घायल कर दिया। घंटेभर की मशक्कत के बाद पुलिस कर्मियों की मदद से नगर निगम की टीम ने जब उसे पकड़ा, तब कहीं जाकर वार्डवासियों ने राहत की सांस ली।

पहले भी मचाया है आतंक
इसके एक दिन पहले शनिवार को नहर नाका चौक में एक कार्यक्रम से लौट रहे भाजपा के युवा नेता अमृत साहू को आवारा सांड ने उठाकर पटक दिया था, जिससे उसका दाहिना पैर फ्रैक्चर हो गया। गंभीर अवस्था में उसे रायपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जताया रोष
शहर के नागरिक रौनक अग्रवाल, रूपेश राजपूत, जितेन्द्र गढ़वी, घनाराम सोनी का कहना है कि पवन सोनी की मौत के लिए पूरी तरह निगम प्रशासन दोषी है। समय रहते आवारा मवेशियों के खिलाफ कार्रवाई की जाती तो शायद यह दुर्घटना नहीं होती।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned