डीआरपी लाईन में हुआ शस्त्र पूजन

डीआरपी लाईन में हुआ शस्त्र पूजन
रेत का अवैध परिवहन करते पांच ट्रेक्टर ट्रालियां जब्त

sarvagya purohit | Publish: Oct, 09 2019 11:26:31 AM (IST) Dhar, Dhar, Madhya Pradesh, India

डीआरपी लाईन में हुआ शस्त्र पूजन


-कलेक्टर और एसपी ने किया पूजन
धार.
विजयादश्मी पर कलेक्टर श्रीकांत बनोठ व पुलिस अधीक्षक आदित्यप्रताप सिंह ने डीआरपी लाईन में मंगलवार को शस्त्र पूजन किया। शस्त्रागार परिसर में विशेष पूजा-अर्चना की। साथ ही हर्ष फायर कर सहकर्मियों को पर्व की बधाई दी। शस्त्रों की पूजा के बाद वाहनों की भी पूजा की और नींबू का फलभोग दिया। इस दौरान पुलिस के वाहनों पर मंत्रोच्चार के बीच अक्षत कुमकुम चढ़ाया गया। इसी के साथ शस्त्रों से हर्ष फायरिंग कर उनकी अचूकता भी परखी गई। जिला पुलिस की इस पारंपरिक पूजा में एडीशनल एसपी देवेंद्र पाटीदार, आरआई रणजीत यातायाता प्रभारी राजेश बारवाल सहित पुलिसकर्मी मौजूद थे।
--------
गोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड के लिए डही के ठाकुर देंगे प्रस्तुति
डही.
प्रसिद्ध गायक व अभिनेता स्वर्गीय किशोर कुमार की जन्मस्थली खंडवा में गोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड के लिए निरंतर 34 घंटे किशोर कुमार के गीतों की प्रस्तुति दी जाएगी। इसमें डही के सिंगर हितेंद्रसिंह ठाकुर भी प्रस्तुति देंगे। कार्यक्रम 12 और 13 अक्टूबर को रेलवे स्टेशन के सामने गांधी भवन में आयोजित होगा, जो निरंतर 34 घंटे तक चलेगा। यह जानकारी सरगम म्यूजिकल ग्रुप डही के सदस्य डॉ दुर्गेश वर्मा, पीयूष सोनी व भुवानसिंह सोलंकी ने दी।
.............
आओ कुछ बने बापू एवं शास्त्रीजी के संग
कुक्षी.
शहर की शैक्षणिक संस्थान पोदर जम्बो किड्स, कुक्षी में नवरात्रि उत्सव के साथ ही महात्मा गांधी एव शास्त्री जी के जन्मोत्सव के कार्यक्रम को आओ कुछ बने बापू एवं शास्त्रीजी के संग शीर्षक से मनाया गया। पोदर जम्बो किड्स संस्था ने भी बच्चो एवं पालकों को हल्के प्लास्ट्रिक उपयोग न करने के लिए शपथ दिलाई गई और इसे व्यावहारिका में भी लाया गया। कार्यक्रम में आकर्षण का केंद्र दांडी मार्च (पैदल यात्रा) कराई गई। बापूजी की साबरमती आश्रम की झोपड़ी कुटियां बनाई गई। साथ ही चरखा बनाया। म्यूजियम जैसा रूप दिया गया, जिसमें द्वेय महापुरूषों की तस्वीरों की प्रदर्शनी लगाई गई।
सबसे महत्वपूर्ण नाटिका, नृत्य, पुराने खेल जिसका अस्तित्व खत्म सा हो गया, उसको पुर्नजिवीत करने का प्रयास किया गया। क्योंकि आधुनिक समय मे मोबाईल हावी हो गया है और पुराने विज्ञान आधारित तार्किक खेल शारीरिक खेल बंद से हो गए है। कार्यक्रम अनेक प्रकार के खेलों व नाटकों का मंचन हुआ। अंत में पुरातन खेलों जैसे पांचे एवं सितोलिया भी पालकों ने खेला । कार्यक्रम को सफल बनाने में स्कूल के सभी शिक्षक-शिक्षकाओं, दीदियों का सराहनीय सहयोग रहा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned