आक्रोश में धार क्षेत्र के मतदाता - जानिये क्या चाहते है अपने प्रतिनिधियों से

Arjun Richhariya

Publish: Jan, 13 2018 04:26:34 (IST)

Dhar, Madhya Pradesh, India

विकास को दे रहे प्राथमिकता

पत्रिका
धार
- नगरपालिका चुनाव के मतदान की तिथि करीब आती जा रही है। जैसे-जैसे दिन गुजर रहे हैं। प्रत्याशियों की भागदौड़ बढ़ गई है। सभी अधिक से अधिक वार्डों तक पहुंचकर मतदाताओं के मन को टटोलने में लगे हुए हैं। देखने में आ रहा है कि वे वार्ड-वार्ड में जाकर जहां युवाओं से मनुहार कर रहे हैं तो जहां भी बुजुर्ग दिखते हैं तो चरण स्पर्श करने से भी नहीं चूकते। शुक्रवार को वार्ड क्रमांक 29 में कांग्रेस प्रत्याशी पर्वतसिंह चौहान को बुजुर्ग महिला का आशीर्वाद लेते हुए देखा गया। वहीं भाजपा के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी अनिल जैन बाबा भी बुजुर्गों से आशीर्वाद लेने में नहीं चूके।

शहर में सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, गंदगी बस्ती उन्मूलन, रैन हार्वेस्टिंग, नवीन कचरा गृह का निर्माण, जनसंख्या के अनुपात से नवीन बगीचों का निर्माण हुआ है। साथ ही गरीब तबका 70 प्रतिशत है, उनके बच्चों के लिए बाल विनय मंदिरों का निर्माण जैसे कार्य की आवश्यकता है। इन कार्यों को पूरा करना चाहिए।
इसके अलावा बस स्टैंड और उपनगरीय बस स्टैंड का निर्माण एवं वहां महिला सुविधाघरों का निर्माण होना चाहिए। स्मार्ट सिटी की तर्ज पर शहर में मटन, मछली एवं अन्य बाजारों का निर्माण चुने हुए जनप्रतिनिधियों को करवाना चाहिए। इस चुनाव में कोई दल जीते, हमारा प्रयास होगा कि प्रबुद्ध्र नागरिकों की समिति बनाकर उनसे सुझाव मांगकर धार नगर का विकास करवाना चाहिए। यहां पर कई ऐसे सेवानिवृत्ति अधिकारी और कर्मचारी हैं, जो धार शहर के विकास में भी जनप्रतिनिधियों का सहयोग कर सकते हैं। देखने में आया है कि नगर पालिका के कुछ काम अपूर्ण हैं।
-शमशेर सिंह यादव
सेवानिवृत्त क्रीड़ा अधिकारी, धार


मनावर में भी चुनाव अभियान पूरे जोर-शोर से चल रहा है। जनसंपर्क में प्रत्याशियों को खरी-खोटी सुनने को मिल रही हैं। नागरिको में चुनाव को लेकर कहीं भी उत्साह नहीं दिख रहा हैं। नपा के सभी 15 वार्डों में सड़क, बिजली, पानी से लेकर प्रधानमंत्री आवास योजना के मुद्दे छाए हुए हैं।
वार्ड एक अनुसुचित जनजाति मजरा फुलतलाई में पानी की समस्या को लेकर लोगों का गुस्सा फूट रहा है। सभी दलों के प्रत्याशियों को समस्याओं से रूबरू करवा रहे हैं। मतदान करने का तो हर मतदाता वादा कर रहा हैं, लेकिन अपने पक्ष में वोट मांगने वालों को समस्याओं के समाधान की ग्यारंटी भी मांग रहे हैं। फुलतलाई के नागरिकों का आरोप हैं कि पिछले 15 वर्षों से वार्ड से जीतकर जाने वाला पार्षद पेयजल जैसी समस्या के निराकरण के लिए कोई ध्यान नहीं दे पाया परिणाम स्वरूप पिछले 15 वर्षों से पानी की किल्लत नागरिक उठा रहा हैं।
"चुनाव आए सभी वोट मांगने आते हैं। जब हमारा कोई काम पड़ता हैं तो कोई ढूंढे नहीं मिलता। पानी की टंकी बनाकर एवं नल योजना सुचारू रूप से चलाने की बात पिछली 3 परिषद के अध्यक्ष व पार्षद कर चुके हैं। लेकिन आप देख लो हमारे पानी पीने की कोई व्यवस्था नहीं हैं। इसलिए अब की बार झूठे वादे करने वालों को सबक सिखाएंगे।"
- जुवान सिंह, निवासी फुलतलाई
"15 साल हो गए नल लगाकर पानी देंगे तथा मोहल्ले में सड़कें बनाएंगे कई वादे यहां के जीतने वाले पार्षदों ने किए, लेकिन स्थिति 15 वर्ष पहले की ही बनी हैं। इस मजरे फुलतलाई में अधिकांश लोग कच्चे आवासों में रह रहे हैं। उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ इसलिए नहीं मिल रहा हैं। उनके पास पट्टे नहीं हैं। नपा एवं जीतने वाले अध्यक्ष, पार्षद इस और ध्यान नहीं दे रहे हैं।"
- बनसिंह भील, निवासी फुलतलाई मनावर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned