शनि का उदय : मध्य रात्रि में होगा, अब मिलेगा पापियों को दंड

- जानें कैसा रहेगा आपकी राशि के लिए, फरवरी 2021 में शनि का उदय...

By: दीपेश तिवारी

Published: 06 Feb 2021, 01:33 PM IST

न्याय के कारक शनि महाराज पिछले करीब 1 माह से अस्त होने के चलते अब जल्द ही अपने पूरे प्रभाव में वापस आ रहे हैं। दरअसल जल्द ही शनि का उदय होने वाला है, ऐसे में माना जा रहा है की इस बार शनि का न्याय चक्र बहुत तेजी से घूमते हुए गलत कार्य करने वालो को दण्डित करेगा।

वैदिक ज्योतिष के अंतर्गत शनि सबसे मंद गति से चलने वाला ग्रह है और एक राशि में लगभग ढाई वर्ष तक रहता है। इसलिए शनि ग्रह का अस्त होना और उदय होना दोनों को ही काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। अभी शनि मकर राशि में हैं और वर्ष 2021 में भी मकर राशि में ही रहने वाले हैं।

MUST READ : शनिदेव - कहीं आप पर भारी तो नहीं? ऐसे पहचानें

ss.png

शनि का उदय-
जनवरी 7, 2021, गुरुवार 16:02:38 बजे को मकर राशि में अस्त हुए न्याय के कारक शनि का अब 9 व 10 फरवरी की दरमियानी रात फरवरी 10, 2021, बुधवार 01:32:19 बजे मकर राशि में ही उदय होने जा रहा है। ऐसे में जहां कुछ लोग इससे भयभीत बने हुए हैं, वहीं उदय के बाद के ये सभी राशियों को उनके कर्मो का फल प्रदान करेंगे। जिसके चलते जहां कुछ को उनके दंड का भागी बनना पड़ेगा तो कुछ को उनका आशीर्वाद भी प्राप्त होगा। इस दिन मकर राशि में सूर्य, गुरू, शनि, शुक्र, बुध और प्लूटो ग्रह मौजूद रहेंगे।

ऐसे समझे तारे का अस्त होना -
नव ग्रहो में केवल सूर्य, राहु और केतु ही ऐसे ग्रह हैं जो कभी अस्त नहीं होते। दरअसल वक्री गति करते हुए गृह सूर्य के नजदीक पहुंचने पर अस्त हो जाते हैं। और अस्त होने पर उस ग्रह की शक्ति कम हो जाती है, जिसके कारण उस गृह के फल या परिणाम बहुत धीमी गति से मिलता है।

ऐसे में शनि का उदय बहुत ही शुभ माना जाता है। ज्योतिष के जानकारों की मानें तो अब इस बार शनि के उदय के साथ ही कई बड़े-बड़े मसले सुलझने शुरू हो जाएंगे। वहीं शनि न्याय भी करेंगे।

आइये पहले समझते है किसान आंदोलन को-
शनि के अस्त स्थिति में परिवर्तन से जहां प्रकृति में बड़े बड़े बदलाव आते हैं वहीं शासन-प्रशासन की स्थिति में भी बदलाव आने की पूरी संभावना होती है। इस दौरान माना जाता है कि नकारात्मक और दुष्ट शक्तियां अपना प्रभाव बढ़ाती हैं।

शनि एक कर्म प्रधान ग्रह है पर जब भी है अस्त होता है तो इसका व्यापक प्रभाव पड़ता है। इसलिए शनि तारा डूबना अथवा शनि का लोप होना ज्योतिषीय दृष्टिकोण से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। क्योंकि ऐसी स्थिति में आपको अनेक प्रकार की चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, विशेष रूप से आपके स्वास्थ्य और कर्म को प्रभावित करने में इसका विशेष प्रभाव पड़ सकता है।

शनि खेती के भी कारक माने जाते हैं और वर्तमान में देश में किसान के नाम पर आंदोलन चल रहा है। ऐसे में ज्योतिष के जानकर पंडित सुनील शर्मा का कहना है कि शनि के उदय के साथ ही ये आंदोलन खत्म होने लगेगा या हो जाएगा। वही शनि इस मामले में दुष्ट व नकारात्मक शक्तियों को दंड भी देंगे। कुल मिलकर इसमें सकारात्मक शक्तियों की विजय होगी।

जबकि शनि के उदय की स्थिति में आने पर न्याय के देवता इन्हे दंड देते हैं। और अधिकांश ये इस्थिति शनि के उदय होने से कुछ समय पहले से ही शुरू हो जाती है इसका कारण ये है कि शनि कि धीमी गति होने के चलते जहां ये आराम से और मजबूत कार्य करता है, वहीं अपना स्थान बदलने के कुछ समय पहले से ही असर दिखाना भी शुरू कर देता है।

ध्यान रहे कि शनि एक न्याय प्रिय और कर्म प्रधान ग्रह है, इसलिए विशेष रूप से नौकरी करने वाले जातकों के लिए उनकी कुंडली में शनि ग्रह का बली होना अति आवश्यक है। जिनकी कुंडली में शनि अस्त अवस्था में होता है उन्हें नौकरी के क्षेत्र में अधिक परेशानी महसूस होती है। इसके अतिरिक्त सेवा के क्षेत्र में और न्याय से संबंधित क्षेत्र में शनि का अस्त होना अनुकूल परिणाम नहीं देता।

Effects of shani uday on you : शनि का ये उदय सभी 12 राशियों को भी प्रभावित करेगा- जानें राशियों पर इसका असर...

1. मेष राशि
कर्म भाव में शनि का उदय होने से आपको बड़ा फायदा हो सकता है। आर्थिक हालात मजबूत होने के साथ ही व्यापारी वर्ग के लिए समय अच्छा रहने वाला है। नौकरी में भी प्रमोशन की सम्भावना है।

2. वृषभ राशि
इस समय आपकी परेशानियां दूर होने के साथ ही अचानक आपका भाग्य चमकेगा। वही फील्ड पर काम करने वाले जातको के लिए भी ये समय अच्छा रहेगा।

3 . मिथुन राशि
कुछ कठिनाइयों के बीच इस समय आपको उन्नति व लाभ मिलेगा। निवेश के लिए समय अच्छा है।

4. कर्क राशि
रुके कार्य पूरे होंगे, कार्य व्यवसाय में तरक्की के साथ ही भाग्य का भी साथ मिलेगा। शनि द्वारा कुछ समय पहले किया गया राशि परिवर्तन भी आपके मान सम्मान में वृद्धि कराएगा।

5 . सिंह राशि
सावधान रहें। धन हानि के संकेत हैं। जुआ, सट्टे से दूर रहें। शनि का उदय नौकरी में लाभ देगा।

6 . कन्या राशि
पुराना तनाव खत्म होगा। आय के साधन बढ़ने से आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। नई नौकरी मिलने की सम्भावना के बीच व्यवसाय में बढ़ोतरी होगी।

7. तुला राशि
नया वहां खरीद सकते हैं। काम कारोबार में सफलता का समय है।

8. वृश्चिक राशि
मित्रों का सहयोग मिलेगा। स्थान परिवर्तन के योग के बीच कार्य व्यवसाय अच्छा चलेगा। नया काम शुरू करने के लिए सही समय है।

9 . धनु राशि
वाणी पर संयम रखें। शनिदेव धीरे धीरे लाभ देंगे। जल्दबाजी में न पड़े।

10 . मकर राशि

नए कार्य की शुरुआत अच्छी रहेगी। शनि शुभ फल देंगे। पारिवारिक जीवन अच्छा रहेगा।

11 . कुम्भ राशि
सेहत का ध्यान रखें। खर्च की अधिकता के बीच स्टूडेंट्स के लिए समय अच्छा है। विदेश से धन मिल सकता है। सोच समझ कर खर्चा करें।

12 . मीन राशि

शुभ परिणाम मिलेंगे। नौकरी में सफलता और व्यापर में लाभ होगा। आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। कुल मिलकर समय अच्छा है।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned