खाकी की ‘धौंस’ ने लील ली जिंदगी!

खाकी की ‘धौंस’ ने लील ली जिंदगी!

Naresh Kumar Lawaniyan | Updated: 06 Oct 2019, 11:54:51 AM (IST) Dholpur, Dholpur, Rajasthan, India

धौलपुर. एक रोगी को अस्पताल ले जा रही जीप पुलिस रूकवाती है, रोगी और उसके चालक को उतरवाकर चौकी पर बिठाती है, इसके बाद जीप लेकर पुलिस जीप तफरी को निकल जाते है।

खाकी की ‘धौंस’ ने लील ली जिंदगी!
दर्द से कराहते रोगी को उतार कर जीप ले गई पुलिस, तफरी कर डेढ़ घंटे बाद लौटी

धौलपुर. एक रोगी को अस्पताल ले जा रही जीप पुलिस रूकवाती है, रोगी और उसके चालक को उतरवाकर चौकी पर बिठाती है, इसके बाद जीप लेकर पुलिस जीप तफरी को निकल जाते है। इधर मरीज का हाल बेहाल रहता है मरीज चीखता रहता है, पर उसको सुने कौन, करीब डेढ़ घंटे बाद जीप लेकर शूरवीर पुलिसकर्मी लौटते है और गाड़ी चालक को रोगी लेकर भागने की सलाह दे देते है। चालक मरीज को लेकर अस्पताल रवाना होता है, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो जाती है। बेवहज पुलिस का रोकना एक आदमी की जिंदगी ले गया।
बसेड़ी क्षेत्र के गांव पत्तीपुरा निवासी रामेश्वर(40) पुत्र पंचम सिंह शुक्रवार को बाइक से सवार होकर घर से आगरा जगनेर आया था। यहां अचानक उसके पेट में दर्द हो गया। इस पर रामेश्वर ने एक जीप किराए कर चालक श्रीकांत के साथ धौलपुर के लिए रवाना हो गया। रास्ते में धौलपुर के सदर थाने की पचगांव चौकी के समीप पुलिस ने जीप को रोक लिया। इस दौरान जीप में सो रहे रामेश्वर पर पुलिस ने शराब पीने का आरोप लगाते हुए जीप को चौकी ले आए। यहां मरीज और चालक को जीप से उतार कर कुछ पुलिसकर्मी जीप को लेकर यहां से रवाना हो गए। दर्द से कराहते रामेश्वर को देख चौकी पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने बहाने नहीं बनाने की सलाह देने हुए चुप रहने को कहा और मारपीट की धमकी भी दी। करीब डेढ़ घंटे बाद जब पुलिसकर्मी जीप लेकर चौकी लौटे तो उन्होंने रामेश्वर की बिगड़ी तबीयत को देखकर चालक श्रीकांत को जीप में उसे ले जाने की बात कह कर रवाना कर दिया। जिला अस्पताल पहुंचने पर रामेश्वर को मृत घोषित कर दिया गया। अगर रामेश्वर को सही समय पर इलाज मिल जाता तो वह बच सकता था।
&मृतक ने जहर खा लिया था, उसे इलाज के लिए धौलपुर लाया जा रहा है, जिस तरह के आरोप पुलिस पर लगाए जा रहे हैं कि उन्हें बंधक बना लिया था और उसकी गाड़ी का इस्तेमाल किया गया। ये झूठ है, प्राथमिक जांच में सामने आया है कि पुलिस ने बल्कि उनकी मदद की है और उन्हें हॉस्पीटल तक पहुंचाया है।
मृदुल कच्छावा, जिला पुलिस अधीक्षक धौलपुर।
& मेरे ड्ूयटी समय में दो जनों की मौत हुई थी, जिनके नाम मेरी जानकारी में नहीं है। पुलिस किसी भी रोगी को लेकर अस्पताल नहीं आई।
डॉ. केशवदयाल, चिकित्साधिकारी, जिला अस्पताल।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned