scriptThe world is giving facilities for shooting, here the matter is stuck | दुनिया दे रही शूटिंग के लिए सुविधाएं, यहां अनुमति पर ही मामला अटका | Patrika News

दुनिया दे रही शूटिंग के लिए सुविधाएं, यहां अनुमति पर ही मामला अटका

- मचकुंड पर हो रही शूटिंग दलालों और विभागीय मंजूरी में उलझी

- नहीं हो पाया मंगलवार को काम, मायूस बैठे रहे तमिल कलाकार

धौलपुर

Updated: December 07, 2021 07:53:03 pm

दुनिया दे रही शूटिंग के लिए सुविधाएं, यहां अनुमति पर ही मामला अटका

- मचकुंड पर हो रही शूटिंग दलालों और विभागीय मंजूरी में उलझी

- नहीं हो पाया मंगलवार को काम, मायूस बैठे रहे तमिल कलाकार
The world is giving facilities for shooting, here the matter is stuck on permission
दुनिया दे रही शूटिंग के लिए सुविधाएं, यहां अनुमति पर ही मामला अटका
धौलपुर. यहां मचकुंड धाम पर चल रही तमिल वेब सीरीज की शूटिंग विभागीय मंजूरियों में उलझ कर रह गई। अब शूटिंग में पुरातत्व विभाग का अडंगा आड़े आ गया है। एक ओर जहां जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, केरल जैसे राज्य और स्विट्जरलैंड सहित यूरोप के कई देश शूटिंग के लिए अनेक प्रकार की सहूलियतें दे रहे हैं, वहीं, दूसरी ओर धौलपुर में मामला मंजूरी में ही अटक कर रह गया है। ऐसे में बाहर से आए शूटिंग से जुड़े लोगों को खासी परेशानी हो रही है।
हो रहा लाखों का नुकसान

शूटिंग रुकी होने से प्रोडक्शन हाउस को रोज लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है। इनमें कलाकारों के ठहरने-खाने का खर्च, शूटिंग के सामान का किराया और कलाकारों की फीस शामिल है। इसके अलावा शूटिंग में देरी से वेब सीरीज का बजट भी बढ़ता जा रहा है।
जिला कलक्टर ने की पहल

मामले की जानकारी जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल तक पहुंची तो उन्होंने तुरंत सज्ञान लेते हुए एसडीएम से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी। उन्होंने शूटिंग की मंजूरी का प्रस्ताव पुरातत्व विभाग (एएसआई) को भिजवा दिया है। जिला कलक्टर ने विभाग के अधिकारियों से जल्द से जल्द शूटिंग की मंजूरी देने पर बात की है।
दलाल गिरोह हुआ सक्रिय

चर्चा है कि बाहर से आई शूटिंग टीम को देखते हुए दलालों का गिरोह भी सक्रिय हो गया है। बाहर से आए लोगों को विभिन्न तरह का झूठा भय दिखा रुपए ऐंठने की भी कोशिश जारी है। ऐसे लोग शूटिंग में तो व्यवधान डाल ही रहे हैं वहीं, जिले की छवि भी बाहर से आए लोगों के सामने खराब कर रहे हैं।
शूटिंग में आसानी और मंजूरी भी आसानी से मिलना अधिक जरूरी: केन्द्र

केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव अपूर्व चंद्रा ने पिछले दिनों एक कार्यक्रम में कहा कि केंद्र सरकार राज्य की कुछ नीतियों पर आधारित, मॉडल फिल्म नीति का मसौदा तैयार करने की योजना बना रही है। मॉडल नीति का मसौदा अन्य राज्यों के साथ साझा किया जाएगा ताकि वे भी इसे अपना सकें। उन्होंने कहा, हालांकि प्रोत्साहन महत्वपूर्ण है लेकिन, शूटिंग में आसानी और मंजूरी भी आसानी से मिलना अधिक जरूरी है।
शूटिंग होगी तो धौलपुर को होगा लाभ

धौलपुर के पुरा महत्व और पर्यटन से लबरेज स्थानों पर फिल्म, सीरियल या वेब सीरीज आदि की शूटिंग होती है तो निश्चित रूप से इसका फायदा जिलेवासियों को होगा। विश्वपटल पर धौलपुर का नाम होगा। लोग धौलपुर और यहां की संस्कृति से रू-ब-रू होंगे। यहां ही लोकेशन से प्रभावित हो और भी लोग यहां आएंगे। ऐसे में पर्यटन को पंख लग सकते हैं।
इनका कहना है

तमिल वेब सीरीज की शूटिंग की अनुमति के लिए प्रस्ताव भेज दिया गया है। निर्धारित फीस जमा कराने पर मंजूरी मिल जाएगी। हमारे लिए अतिथि देवो भव: हैं। बाहर से आने वालों का पूरा ध्यान रखा जाएगा। निश्चित रूप से इसका फायदा धौलपुर और यहां के निवासियों को होगा।
- राकेश कुमार जायसवाल, जिला कलक्टर, धौलपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.