Diabetes Control Tips: खाना छोड़कर नहीं, इन आसान तरीकों से कंट्राेल करें डायबिटिज

Type 2 Diabetes Control Tips: डायबिटीज एक लाइफस्टाइल डिजीज है जिसे पाैष्टिक खानपान और एक्टिव एक्सरसाइज रुटीन के जरिए कंट्राेल किया जा सकता है।

 

By: युवराज सिंह

Published: 25 Sep 2019, 07:02 PM IST

Type 2 Diabetes Control Tips: फास्टफूड, अनएक्टिव लाइफस्टाइल के कारण दुनियाभर में टाइप टू डायबिटीज के राेगियाें की संख्या लगातार बढ़ रही है। डायबिटीज एक लाइफस्टाइल डिजीज है जिसे पाैष्टिक खानपान और एक्टिव एक्सरसाइज रुटीन के जरिए कंट्राेल किया जा सकता है।अाइए जानते हैं टाइप टू डायबिटीज काे कंट्राेल करने के असरदार टिप्स के बारे में

ना करें खाना स्किप ( Don't Skip Food )
कर्इ लाेगाें का साेचना है कि खाना छाेड़ देने से उनके डायबिटिज लेवल पर सकारात्मक असर पड़ेगा। लेकिन सच ये है कि इससे उनकी सेहत पर नकारात्मक असर हाेता है।क्याेंकि खाना नहीं खाने पर आपका लिवर ज्यादा शुगर बनाने लगता है। इसलिए डायबिटिज के मरीजाें काे भूखे रहने की नहीं बल्कि थाेड़े-थाेड़े अंतर के बाद कुछ ना कुछ हैल्दी खाने की सलाह दी जाती है। इसलिए आप भी खाना छाेड़ने की बजाय थाेड़े-थाेड़े अंतर के बाद कुछ न कुछ पाैष्टिक खाने पर जाेर दें।

फाइबर आैर प्राेटन युक्त डाइट पर दें जाेर ( Fiber Protein Diet In Diabetes )
फाइबर आैर प्राेटन युक्त डाइट मधुमेह राेगियाें के लिए सेहतमंद हाेती है। ये रक्त में शुगर की मात्रा काे कंट्राेल में रखती है। फाइबर युक्त डाइट लेने से आपकाे बार-बार भूख नहीं लगेगी। आैर प्राेटिन आपकी शारीरिक शक्ति कम कलाैरी में भी मेंटेन रखता है।सूखे मेवे खासकर अखराेट का सेवन फायदा पहुंचाता है। दालें आैर प्राेटिन युक्त आहार सेहत बनाए रखते हैं।

एक्टिव लाइफस्टाइल अपनाएं ( Active Lifestyle Prevent Diabetes )
आलसी दिनचर्या डायबिटिज राेगियाें के लिए बेहद घातक हाेती है इसके लिए जरूरी कि एक्टिव लाइफस्टाइल अपनाएं। राेज कम से कम 4 से 5 किलाेमीटर पैदल चलना, ब्रिक्स वाॅॅॅक, सार्इकिलिंग याेग आैर हल्की फुल्की एक्सरसाइज करना मधुमेह राेगियाें के लिए फायदेमंद हाेती है।

शुगर बढ़ाने वाले आहार से रखें दूरी ( Avoid Sugar )
मधुमेह राेगियाें काे शुगर वाले आहार, खासकर आर्टिफिशियल शुगर से दूरी बनाए रखनी चाहिए। मीठे के ताैर पर गुड़, गुड़ तिल व चने से बनी चीजें कम नुकसान करती है। बाहरी मिठार्इ व अत्यधिक चिकनार्इ से परहेज करना चाहिए। कम मात्रा में माैसमी फल का सेवन अच्छा रहता है।

Show More
युवराज सिंह Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned