कोदो-कुटकी की पट्टी से बच्चों को मिलेगा प्रोटीन व कैलोरी

कोदो-कुटकी की पट्टी से बच्चों को मिलेगा प्रोटीन व कैलोरी

ayazuddin siddiqui | Publish: Sep, 16 2018 05:49:42 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 05:49:43 PM (IST) Dindori, Madhya Pradesh, India

नई तकनीक से उत्पादन में दो गुना इजाफा

डिंडोरी. तेजस्विनी ग्रामीण महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम के अंतर्गत डिंडोरी जिले के विकासखंड शहपुरा के ग्राम रयपुरा में कोदो कुटकी से निर्मित बर्फी नुमा पट्टी निर्माण इकाई का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर जिला कार्यक्रम प्रबंधक यशवंत सोनवानी के द्वारा बताया गया कि वर्ष 2014 में तेजस्विनी नारी चेतना महिला संघ मेंहदवानी दवारा कोदो कुटकी खेती को प्रोत्साहन किया गया कृषि विभाग के सहयोग से नई तकनीक से खेती करना समूह की महिलाओ को सिखाया गया। जिससे किसानो के उत्पादन मे दो गुना इजाफा हुआ।
संघ के द्वारा कोदो कुटकी प्रसंस्करण इकाई स्थापित करने का फैसला लेते हुये अपना प्रस्ताव तेजस्विनी कार्यक्रम के राज्य कार्यालय को प्रस्तुत किया गया। प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान करते हुये वित्तीय सहयोग प्रदान किया गया। वर्ष 2015-16 में मेंहदवानी में प्रसंस्करण इकाई की स्थापना भी की गई। महिलाओं के प्रयास को देखते हुये तत्कालीन कलेक्टर अमित तोमर के द्वारा कोदो कुटकी प्रसंस्करण इकाई को बढ़ावा देते हुए प्रसंस्करण इकाई में मशीन उपलब्ध कराई गई।
तत्कालीन कलेक्टर द्वारा कोदो कुटकी की पौष्टिकता को देखते हुए संघ की महिलाओं के साथ चर्चा कर कोदो कुटकी से व्यंजन तैयार कराने का निर्णय लिया गया और कोदो कुटकी से बर्फी नुमा पट्टी निर्माण कर पायलट प्रोजेक्ट के रूप में मेंहदवानी विकास खंड के 224 आंगनवाड़ी केंद्रों में नाश्ते के रूप में सप्लाई करने हेतु म.प्र. शासन को प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया। मध्यप्रदेश शासन द्वारा प्रस्ताव को मंजूरी दी गई जिससे संघ की महिलाओं में उत्साह देखते ही बना और नवंबर 2017 में कोदो पट्टी निर्माण इकाई की स्थापना कर ली गई।
आज मेंहदवानी विकास खंड की सफलता को देखते हुए जिले के तीन विकासखंड करंजिया शाहपुरा एवं बजाग में यह इकाई चालू की जा रही है। अब आंगनवाड़ी के बच्चों को पर्याप्त प्रोटीन एवं कैलोरी इस कोदो कुटकी की पट्टी से प्राप्त होगी। जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज लारोकर के द्वारा इस गतिविधि को सफल बताते हुए महिलाओं का हौसला बढ़ाया गया। कोदो कुटकी से निर्मित पट्टी निर्माण इकाई के लिए हर समय सहयोग करने की बात करते हुए तत्कालीन कलेक्टर के साथ मिलकर आवश्यक कार्यवाही करते हुए इस गतिविधि को सफल बनाया गया है।
मनोज लारोकर द्वारा यह भी कहा गया कि हमारे आंगनवाड़ी केंद्र के बच्चों को पौष्टिक नाश्ता मिलेगा वहीं दूसरी तरफ तेजस्विनी की महिलाओं को एक अतिरिक्त आमदनी भी प्राप्त होगी। जिससे कहीं न कहीं कुपोषण हमारे जिले से दूर होगी। अपने संघ की महिलाओं को गुणवत्तापूर्ण एवं स्वच्छता को ध्यान में रख कर के इस इकाई का संचालन करने का सुझाव भी दिया गया। साथ ही हर संभव संघों को सहयोग करने की बात कही गई।
आने वाले समय में जिले के समस्त विकासखंडों में संघों के द्वारा आंगनवाडिय़ों में नाश्ता सप्लाई का कार्य करने का आश्वासन भी दिया गया। कार्यक्रम में उपस्थित क्षेत्रीय जनपद सदस्य के द्वारा संघों को हर समय सहयोग करते हुए हमारे क्षेत्र की महिलाओं की विकास करने की बात कही इस अवसर पर कार्यक्रम में सहायक संचालक महिला बाल विकास विभाग उदय वती तेकाम एवं श्याम सिंगौर जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी महिला बाल विकास विभाग परियोजना शहपुरा से समस्त सुपरवाइजर तेजस्विनी कायक्रम के अंतर्गत गठित संघ के समस्त कार्यकर्ता उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम में मंच संचालन का कार्य मुनीष नाथ जोगी जिला इकाई प्रबंधन के दवारा किया गया। बलभद्र झारिया संघ मित्र के द्वारा इस कार्यक्रम में उपस्थित समस्त अधिकारी जनप्रतिनिधियों का आभार व्यक्त किया गया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned