तनाव से मुक्ति के लिए बेहतर है स्ट्रेस बॉल!

Shankar Sharma

Publish: May, 18 2018 05:55:19 AM (IST)

Disease and Conditions
तनाव से मुक्ति के लिए बेहतर है स्ट्रेस बॉल!

विशेषज्ञों के अनुसार पूरी तरह से सुनिश्चित नहीं किया जा सकता कि तनाव दूर भगाने में स्ट्रेस बॉल मददगार है।

कई बार आपने लोगों को स्ट्रेस बॉल से खेलते देखा होगा। जैसे ही कोई डेडलाइन करीब आती है या किसी मीटिंग से पहले जब टेंशन में होते हैं, ये लोग स्ट्रेस बॉल को दबाने लगते हैं। क्या ऐसा करने से आराम मिलता है या यह सिर्फ एक भ्रम है- इन सवालों का कोई सीधा जवाब नहीं, क्योंकि इस पर कोई रिसर्च नहीं हुई है। विशेषज्ञों के अनुसार पूरी तरह से सुनिश्चित नहीं किया जा सकता कि तनाव दूर भगाने में स्ट्रेस बॉल मददगार है। लेकिन लोगों को इससे फायदा मिल रहा है तो इस्तेमाल करने में कहीं कोई बुराई नहीं है।

ऐसे काम करती है स्टे्रस बॉल
स्ट्रेस हमारे शरीर को कई तरीकों से प्रभावित करता है उनमें से एक है कॉर्टिसोल हार्मोन का स्राव जो हमारे रक्त नलिकाओं को सिकुड़ देता है जिससे उन्हें पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिलती है। बॉल को बार-बार दबाने और छोडऩे से मसल्स पर जोर पड़ता है जिससे ऑक्सीजन और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है। जब आप स्ट्रेस बॉल को दबाते हैं, तो मांसपेशियों को आराम मिलता है। यह एक्सरसाइज स्ट्रेस से पनपे तनाव को दूर करता है।

मूड पर भी प्रभाव
स्ट्रेस बॉल का चुनाव करते समय थोड़ी सावधानी भी बरतें। ऐसी बाल लें जो आपकी हथेली में अच्छे से समा जाए। बॉल को अपने हथेली में रखे और दबाएं फिर अपनी उंगलियों के सिरों से दवाब डालें और तीन या पांच तक गिनती करें। फिर इसे धीमे से छोड़ दें। इस प्रक्रिया को करीब दोनों हाथों से आठ-दस बार दोहराएं। बॉल को दबाते समय सांस अन्दर लें और छोड़ते समय सांस को भी बाहर छोड़ें।

स्ट्रेस बॉल का इस्तेमाल आप अपने तनाव को दूर करने और मूड को अच्छा करने के लिए कर रहे हैं फिर भी इस बात का ध्यान रखें की कई बार स्ट्रेस का सही समय पर इलाज न हो पाने के कारण यह बड़ी बीमारियों जैसे अवसाद या चिंता हो सकती है। यदि आप क्रोनिक स्ट्रेस के शिकार हैं तो बॉल को छोडि़ए और किसी डॉक्टर के पास जाइए।

मस्तिष्क से जुड़ी हुई नसें स्ट्रेस बॉल को दबाने से उत्तेजित हो जाती हैं तो यह मांसपेशियों को आराम पहुंचाती है और आपके खून में कॉर्टिसोल लेवल कम हो जाता है। जिससे यह आपके मूड को भी अच्छा करने में मदद करता है।

करती एक्यूप्रेशर की तरह काम
स्ट्रेस बॉल को अपनी हथेली से दबाना एक्यूप्रेशर की तरह काम करता है, जिससे एक जगह कि नसों को दबाने से शरीर के किसी दूसरे हिस्सों को अंदर तक से आराम मिलता है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned